चलते चलते

पाँच अप्रैल के रात की जगमगाती फोटो खींचने के लिए हमारे सभी उपग्रह तैयार: NASA

05, Apr 2020 By किल बिल पांडे

वाशिंगटन डीसी. पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम विडियो संदेश जारी किया। रामायण के प्रसारण को आगे बढ़ाकर प्रसारित किये गए इस संदेश में, पीएम मोदी ने देशवासियों को एकजुटता का संदेश देने के लिए रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की।

NASA-Scientist1
फोटू तो खींचना पड़ेगा!

इस अपील के बाद से ही, उम्मीद के मुताबिक, लोगों ने इसमें न्यूमरोलोजी और ज्योतिष घुसेड़ कर, इस आग्रह के ऐसे-ऐसे विश्लेषण प्रस्तुत किये हैं कि प्राइम टाइम के धुरंधर ‘डीएनए विश्लेषक’ भी शरमा जाएँ।

लेकिन देशवासियों के साथ-साथ, इस आग्रह को लेकर अगर कोई सबसे ज्यादा उत्साहित दिखाई दे रहा है, तो वो है विश्व की सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संस्था ‘नासा’ (NASA)

नासा ने इस आग्रह के बाद बाकायदा ट्वीट कर ऐलान किया है कि इस बार उसने इस ‘लघु दीपोत्सव’ के अवसर पर भारत की रात नौ बजे की जगमगाती तस्वीरें खींचने के लिए सारी तैयारियां कर ली हैं।

ज्ञात हो कि भारत के व्हाट्सएप्प ग्रुप्स के रिसर्च को सत्यापित करने का आधा से ज्यादा ठेका UNESCO के साथ NASA ने ही लिया है। पूरे मामले पर NASA के प्रवक्ता, पीटर इंग्लैंड ने वाशिंगटन से फ़ेकिंग न्यूज को बताया कि, “भारत के व्हाट्स एप्प ग्रुप्स ने हमें हमेशा ही बहुत प्यार दिया है, हमें ऐसी-ऐसी रिसर्च के श्रेय दिए हैं जो हमने कभी किये ही नहीं! खैर, हमने देखा कि हर बार दिवाली के टाइम हमारी खिंची हुई वही पुरानी फोटो सोशल मीडिया पर घूमती रहती है!”

“हमें लगा कि जिस देश ने हमें इतना सम्मान दिया है, वो देश कब तक पुराने फोटो से काम चलाता रहेगा, हमारा भी कुछ कर्तव्य है नहीं? इसलिए हमने फैसला किया कि इस साल हम रविवार को नौ बजे अपने उपग्रहों से ऐसी बढ़िया फ़ोटो ‘खेंचेगे’ कि ‘नेशनल जियोग्राफिक’ के फोटोग्राफर भी पानी भरते नजर आयेंगे।

इस ऐतिहासिक पल के लिए हमने अपने सारे काम होल्ड पर डालकर, सारी सेटेलाइटों की मुंडी भारत की तरफ ही घुमा दी है। जूता-मोजा पहनकर सारे उपग्रह तैयार हैं!” -कहते हुए पीटर, गोबर और गौमूत्र पर रिसर्च करने के लिए अपने आधुनिक तबेले में रवाना हो गए।



ऐसी अन्य ख़बरें