चलते चलते

अमेरिका में भी सरकार बनाने का दावा पेश किया बीजेपी ने, हिलेरी बिना शर्त समर्थन देने को तैयार

14, Mar 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली/वॉशिंगटन. गोवा और मणिपुर के बाद बीजेपी ने अब अमेरिका में भी सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। राष्ट्रपति चुनाव में हारने वाली हिलेरी क्लिंटन ने भी बिना शर्त बीजेपी को समर्थन देने का एलान कर दिया है। इस हैरतअंगेज़ घटनाक्रम से राष्ट्रपति ट्रंप सकते में हैं और पिछले दो घंटे से अजीबोग़रीब ट्वीट कर रहे हैं। ट्रंप का आरोप है कि उनकी पार्टी के सीनेटर्स और गवर्नर्स को तोड़ा जा रहा है।

amit shah
इस मौक़े पर शाह का मुंह मीठा कराते मोदी जी

बीजेपी के महासचिव राम माधव और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पिछले दो दिनों से वॉशिंगटन में डेरा डाले हुए हैं। ये दोनों डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं से अलग-अलग मुलाक़ात कर रहे हैं और रिपब्लिकन पार्टी के भी कुछ प्रतिनिधि इनके संपर्क में हैं।

थोड़ी देर पहले श्री शाह को डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रतिनिधियों के साथ वॉशिंगटन के एक फ़ाइव स्टार रिजॉर्ट में चेक इन करते देखा गया है। रिजॉर्ट जा रही बस में से झांक रहे दो प्रतिनिधियों ने फ़ेकिंग न्यूज़ से कहा कि “हमारे साथ किसी ने ज़ोर-ज़बरदस्ती नहीं की है, हम अपनी मर्ज़ी से यहां आये हैं।”

इससे पहले, बीजेपी का एक निम्न-स्तरीय प्रतिनिधिमंडल अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के स्पीकर पॉल रेयान से मिला और उन्हें 238 प्रतिनिधियों के समर्थन वाला पत्र सौंप दिया, जबकि बहुमत के लिये जादुई आंकड़ा 237 है। बीजेपी ने रेयान से मांग की है कि श्री मोदी को जल्द से जल्द राष्ट्रपति पद की शपथ दिलायी जाये। उधर, राष्ट्रपति ट्रंप ने बहुमत परीक्षण को रोकने के लिये सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी लगायी है, जिस पर कल सुनवाई होगी।

इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह अचानक अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया और फ़्लाइट पकड़कर अमेरिका रवाना हो गये। रक्षा मंत्री का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री का अतिरिक्त कार्यभार भी संभाल लिया है। उम्मीद की जा रही है कि राजनाथ सिंह के यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद गृह मंत्रालय का एक्स्ट्रा-अतिरिक्त कार्यभार भी जेटली जी ही संभालेंगे।

राजनीतिक विश्लेषकों का इस पूरे घटनाक्रम पर कहना है कि अब भारत में मोदी जी के लिये कुछ नहीं बचा था। उनकी पॉपुलरिटी के हिसाब से उन्हें अमेरिका का राष्ट्रपति ही होना चाहिये। उधर, मेक्सिकन और मुसलमानों समेत सभी देशों के अप्रवासियों ने अभी से जश्न मनाना शुरु कर दिया है। उनका कहना है कि “अब हमें अमेरिका से कोई नहीं भगा सकता। मोदी जी इंडिया की तरह यहां भी ‘सबका साथ, सबका विकास’ करेंगे।”



ऐसी अन्य ख़बरें