Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

"सीरिया में चल रहे युद्ध में किसका समर्थन करना है?" -यह सोच-सोचकर पागल हुआ भोपाल का युवक

16, Oct 2019 By Ritesh Sinha

भोपाल. सूचना मिली है कि सर्विस कॉलोनी में रहने वाला रमेश नाम का एक युवक ज्यादा सोचने की वजह से पागल हो गया है, उसकी बिगड़ती हालत को देखते हुए उसके दोस्तों ने उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया है, जहाँ उसकी हालत स्थिर बनी हुई है। रमेश के दोस्तों का कहना है कि सीरिया में चल रहे हालात की वजह से उसकी ये हालत हुई है।

patient
अस्पताल में पड़ा रमेश

“आखिर रमेश का ये हाल कैसे हुआ?” -ऐसा पूछे जाने पर उसके जिगरी दोस्त मिथुन ने बताया कि, “वो सीरिया में चल रहे युद्ध को लेकर बड़ा परेशान रहता था।

कल जब मैं उसके रूम में गया तो उसने मुझसे ही पूछ लिया कि, “अबे मिथुन, मुझे कुर्दों का समर्थन करना चाहिए या तुर्कों का? अमेरिका का साथ दूँ या फिर रूस का? तू बताना? सब एक-दूसरे से ऐसे उलझे हुए हैं कि कुछ समझ नहीं आ रहा है? साला कौन हीरो है और कौन विलेन पता ही नहीं चलता?

उसका सवाल सुनकर मैं हक्का-बक्का रह गया! मैंने कह दिया कि, “चल हट यहाँ से, मुझे कोई आईडिया नहीं है इस बारे में! तूझे जिसका चेहरा अच्छा लगता है उसे ही सपोर्ट कर दे, वैसे भी वो लोग कौन सा तेरे सपोर्ट के लिए मरे जा रहे हैं?”

इतना सुनते ही वो मुझे मारने के लिए दौड़ पड़ा! बड़ी मुश्किल से भागकर आया हूँ भाईसाब!” -मिथुन ने अपनी बात पूरी की।

एक और दोस्त संजू ने बताया कि रमेश आजकल  ‘सीरिया युद्ध’ के बारे में आर्टिकल्स पढता रहता था, पूरे सौ साल की हिस्ट्री पढ़ने के बाद भी उसे समझ नहीं आया कि किस ग्रुप का सपोर्ट करना है, बस इसी चक्कर में पागल हो गया बेचारा!” -संजू ने मुँह बिचकाते हुए कहा।

इधर, इस मुद्दे पर हमने थोड़ी देर के लिए रमेश से भी बात की, बेड पर लेटे-लेटे उसने बताया कि, “पता नहीं मेरे सपोर्ट के बिना ‘कुर्द’ कैसे लड़ रहे होंगे! ‘ट्रंप’ दिखने में बेवकूफ लगता है पर है नहीं, अच्छा गेम खेला है.. !” -रमेश ऐसा कह ही रहा था कि टैबलेट के असर की वजह से उसकी नींद लग गई।



ऐसी अन्य ख़बरें