Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

पुलिस और वकीलों की लड़ाई में 'मध्यस्थता' का ऑफर दिया ट्रंप ने, वकीलों ने कहा- "नहीं चाहिए विदेशी सरपंच!"

06, Nov 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. पार्किंग को लेकर शुरू हुआ एक छोटा सा विवाद अब पुलिस और वकीलों के बीच नाक का मुद्दा बन गया है। दिल्ली के प्रदूषण में भी इनका निशाना नहीं चूका और इन्होने एक दूसरे पर जमकर हाथ साफ़ किया है। सूचना मिली है कि अब इस लड़ाई की गूँज सात समंदर पार पहुँच गयी है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपील की है कि इस मसले का हल बातचीत के रास्ते से निकाला जाए।

trump-donald
वकीलों और पुलिस की लड़ाई देखते ट्रंप

स्वयं उन्होंने ‘मध्यस्थता’ करने का ऑफर भी दिया है, साथ ही उन्होंने दावा किया है कि अगर मैं मध्यस्थता करने निकल पड़ा तो इनका झगड़ा पाँच मिनट में समाप्त हो जाएगा।

गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप, इन दिनों ‘मध्यस्थता’ के काफी भूखे हैं, जहाँ देखो वहाँ वो ‘मध्यस्थता’ की भीख मांगते फिरते रहते हैं, उनका चेहरा ध्यान से देखने पर पता चलता है कि उसके माथे पर “कोई तो बुला लो, मध्यस्थता करने!’ लिखा हुआ है।

अभी कुछ दिनों पहले ही वो कश्मीर में मध्यस्थता करने की जिद पकड़ बैठे थे, प्रधानमंत्री मोदी ने बड़ी मुश्किल से उन्हें ऐसा ना करने के लिए मनाया था। अब वो दिल्ली में वकीलों और पुलिस के बीच चल रहे झड़प पर कूद पड़े हैं और ‘मीडिएशन’ की रट लगा रहे हैं।

हालाँकि, दिल्ली के वकीलों ने डोनाल्ड ट्रंप के इस ऑफर को सिरे से खारिज कर दिया है, वकीलों के सरदार  मुखिया दीनबंधु साँचेवाला ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “देखिए! हमें कोई विदेशी सरपंच नहीं चाहिए, ट्रंप को अपने देश पर ध्यान देना चाहिए!

इंडिया में बड़े-बड़े सरपंच भरे पड़े हैं, हम उनकी मदद ले लेंगे! अमर सिंह जैसे धुरंधर किस दिन काम आएँगे?” उधर, पुलिस वालों ने भी डोनाल्ड ट्रंप को बीच में लाने से साफ़ इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि ट्रंप बड़े भैया के आने से आग और भड़क जाएगी।



ऐसी अन्य ख़बरें