चलते चलते

"ट्रंप के ताजमहल देखने का मज़ा फ़ीका ना हो जाए, इसलिए नहीं बताया था दंगों के बारे में!" - रविशंकर प्रसाद

02, Mar 2020 By बगुला भगत

वॉशिंगटन डीसी/नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दिल्ली दंगों पर देर से अपील करने पर सरकार ने आज सफ़ाई दी है। सरकार का कहना है कि यह सब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से इस ख़बर को छुपाये रखने के लिये किया गया था ताकि उनके ताजमहल देखने का मज़ा फ़ीका ना हो जाये!

Modi-Trump-Delhi-Riots1
ट्रंप को बातों में उलझाते मोदीजी

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि “अगर कोई इतनी दूर से ताजमहल देखने आये और आप आते ही उसे बुरी ख़बर दे दो तो फिर ताजमहल देखने में उसका मन लगेगा क्या? बताओ आप!”

“इसीलिए मोदीजी ने दंगों पर तभी मुँह खोला, जब ट्रंप अमेरिका वापस पहुँच गये।” फिर वो इसे भारत की एक बड़ी कूटनीतिक जीत बताते हुए बोले कि “जिस बात का हल्ला पूरी दुनिया में मचा हुआ था, उस बात की मोदीजी ने ट्रंप को भनक तक नहीं लगने दी, ये कोई छोटी-मोटी बात है!”

इस बीच, पीएमओ के सूत्रों के हवाले से पता चला है कि ट्रंप ने आज सुबह मोदीजी को फ़ोन करके दिल्ली के दंगों पर शोक जताया है और मोदीजी से इस बात पर नाराज़गी भी जताई कि उन्होंने इस बारे में तभी क्यों नहीं बताया!

इसके बाद ट्रंप ने गाँधीजी के उस चरखे का हाल-चाल भी जाना, जिसे वो चलाकर गये थे और पूछा कि “ये सब तभी हो रहा था ना जब हम गाँधीजी के उस चरखे को चला रहे थे?” तो मोदीजी ने सहमति में गर्दन हिलाई और फ़ोन रख दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें