Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

मोदी जी ने गलती से शी जिंगपिंग को फॉरवर्ड कर दिया चाइनीज सामान के बहिष्कार वाला मैसेज, डोकलाम जैसे हालात

10, Oct 2019 By किल बिल पांडे

नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, हर काम परफेक्शन के साथ करने के लिए जाने जाते हैं, अपनी कार्यकुशलता द्वारा रोज़ नये आयाम स्थापित करने वाले मोदी जी लापरवाही को जरा भी बर्दाश्त नहीं करते! किसी काम में शायद ही किसी गलती की गुंजाईश रहती है।

modi-phone
मैसेज फॉरवर्ड करते मोदी जी

लेकिन मोदी जी के इस रिकॉर्ड पर उस वक़्त काला धब्बा लग गया, जब उन्होंने चीनी सामान के बहिष्कार का मैसेज चीन के ही राष्ट्रपति शी जिंगपिंग को फारवर्ड कर दिया। नतीजतन भारत और चीन के उतार-चढाव भरे रिश्तों में फिर से नई दरार आ गई।

चूँकि कल चीन में किसी नये ‘पांडा’ ने जन्म नहीं लिया था इसलिए वहाँ के सरकारी न्यूज़ चैनलों पर दिखाने के लिए कोई कंटेंट ही नहीं था, यही वजह है कि मोदी जी वाला मैसेज, सरकारी चैनलों पर छाया रहा। मामले की गंभीरता का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि चीन ने तुरंत भारतीय उच्चायुक्त को बुलाकर उनसे इस मसले पर जवाब-तलब कर लिया।

चीन ने अधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि, “हम भारत के दोगले रवैये से काफी नाखुश हैं, एक तरफ तो भारत दिवाली के झालर से लेकर मेट्रो बनवाने का ठेका हमें देता है, ऊपर से ऐसे दिल दुखाने वाले मैसेज भी फॉरवर्ड करता है!”

अपना नकली आईफ़ोन रिपेयर करवाने चीन गए फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर ने जान पर खेल कर पता लगाया है कि, इस मैसेज से चीनी राष्ट्रपति इतने गम में हैं कि रातभर से जगजीत सिंह और अल्ताफ राजा के गाने सुनकर रोते ही जा रहे हैं।

खबर तो यह भी है कि शी जिंगपिंग भारत का अपना दो दिवसीय दौरा लगभग रद्द करने ही वाले थे, लेकिन ताज़ा जानकारी के अनुसार, मोदी जी ने उन्हें इस दौरे पर आने के लिए मना लिया है। दरअसल, मोदी जी ने शी जिंगपिंग से झूठ बोल दिया कि वो खुद चाइना का मोबाइल यूज कर रहे थे इसलिए ये हादसा हो गया! जिसे सुनकर शी जिंगपिंग को भी तसल्ली हो गयी और वो दौरे पर आने के लिए तैयार हो गए।     



ऐसी अन्य ख़बरें