Tuesday, 17th September, 2019

चलते चलते

मोदी ने किया चीफ़ ऑफ़ डिफेंस स्टाफ बनाने का एलान, पाकिस्तान भी बनाएगा जैश, अल क़ायदा और ISIS का एक मुखिया

21, Aug 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. आज़ादी के 73वें वर्ष में लाल किले से बोलते हुए मोदी जी ने एक ऐतिहासिक घोषणा की है, उन्होंने कहा है कि तीनों सेनाओं में सहयोग बढ़ाने के लिए एक चीफ़ ऑफ़ डिफेंस स्टाफ का गठन किया जाएगा। देश को संबोधित करते उन्होंने आगे कहा कि, “तीनों सेनाओं का एक ही ‘प्रमुख’ होने पर युद्ध तथा आपातकालीन स्थिति में तीनों सेनाएं अच्छे से काम कर सकेंगी, जिससे देश को फायदा होगा!”

imran khan
‘आतंकियों के सरगना’ पद का एलान करते इमरान

उधर, इसकी देखा-देखी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कुछ ऐसे ही लिए हैं, वो 16 अगस्त को टीवी पर प्रकट हुए और कहा कि, “चौदह तारीख के भाषण में मैं एक पेज पढ़ना भूल गया था, आज उसे पढ़ने आया हूँ!

भारत अपनी सेना को धीरे-धीरे मज़बूत बना रहा है तो हम भी पीछे कैसे रह सकते हैं, हमारी सेना कमज़ोर है इसलिए हमने हमारे आतंकी संगठनों का एक ‘सरगना’ बनाने का फ़ैसला किया है!<

जैश, ISIS और अल क़ायदा का अब से केवल एक लीडर होगा!  इस से हमारे इरादे भी साफ़ रहेंगे और हमारी मंज़िल भी!” -सूत्रों की मानें तो इस पद के सबसे प्रबल दावेदार हाफ़िज़ सईद ही माने जा रहे हैं। फिर भी अगर चुनाव हुआ तो.. हाफ़िज़ ही जीतकर आएँगे।

साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर के हिज़्बुल कमांडर भी इस पद के लिए फॉर्म भर सकते हैं। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पाकिस्तान ने भारत को इस तरह से कॉपी किया हो। जब OROP आया था तब भी पाकिस्तान में रह रहे आतंकियों ने ISI से अपने लिए OROP का प्रस्ताव रख दिया था।

हालाँकि ISI ने इस प्रस्ताव को पहले टाल दिया था लेकिन बाद में प्रेशर बढ़ने पर उन्हें यह बात माननी पड़ी। सूत्रों की मानें तो अब इन आतंकियों को सैलरी तो मिलती ही है, ऊपर से ‘DA’ ‘PF’ और GPF भी कटता है।

आतंकी संगठनों के प्रमुख के चुनाव अगले महीने होंगे, देखना होगा इस चुनाव में वोट डालने के लिए कितने लोग ज़िंदा रह पाते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें