Saturday, 22nd September, 2018

चलते चलते

सऊदी अरब की महिलाओं को मिला 'ड्राइविंग' का हक़, इंसान का दर्ज़ा मिलने में अभी लगेगा वक़्त

26, Jun 2018 By Fake Bank Officer

रियाद. सऊदी अरब की महिलाओं को लंबे संघर्ष के बाद आखिर ड्राइविंग का हक़ मिल गया है। यह फैसला होते ही महिलाएं हिजाब पहनकर सड़क पर जश्न मनाने निकल पड़ीं। हालाँकि, अभी भी महिलाओं को कुछ छोटे-मोटे अधिकार मिलना बाकी है, जैसे कि तलाक  लेना, संपत्ति खरीदना और सबसे जरूरी इंसान का दर्जा!

saudi
जीत का चिन्ह बनाती एक महिला

गाड़ी चलाकर खुशियाँ मना रही एक महिला फातिमा अल हमज़ा ने बुर्के से ही फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया “अभी भी बहुत संघर्ष करना बाकी है, मज़हबी किताबों में कहीं नही लिखा है कि महिलाएं इंसान नही है!” – ऐसा बोलकर उन्होंने अपना मुँह फेर लिया, शायद उनको इतना ही बोलने की इज़ाज़त थी।

तभी बाजू में खड़े एक और बुर्के से आवाज़ आयी “हमारे लिये तो यही बड़ी बात है कि हमको बोलने का हक़ मिला है! ज्यादा डिमांड कर हम किसीको नाराज़ करना नहीं चाहते! इतना बहुत है!”

इसी मामले पर सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने हमारे संवाददाता को बताया “हमारे यहाँ  महिलाओं को इंसान का दर्जा देना इतना आसान नही है। बड़ी मुश्किल से धर्मगुरुओं को समझा बुझाकर हमने महिलाओं को पशुओं जितने अधिकार दिलाये हैं, ऐसे बोल्ड फैसले रातोंरात नही लिए जा सकते! अभी एक मजलिस मे किसी ने मज़ाक में ही यह बात उठा दी थी तो कई मौलवी गुस्से में आकर अपनी दाढ़ी नोचने लगे थे। इसलिए फिलहाल मैंने इस मुद्दे को अपने विज़न 2050 डॉक्यूमेंट में शामिल कर दिया है!”

उधर, ड्राइविंग की छूट मिलने के बाद भी सऊदी की महिलाएं आशंकाओं से घिरी हुई हैं। कुछ महिलाएं ड्राइव करते हुए काफी दूर निकल गयी क्योंकि उनको पता नही था कि उनको गाड़ी रोकने और पार्किंग में लगाने का भी हक़ है या नहीं! वहीँ, कुछ महिलाएँ तो इस दुविधा में थी कि उनको कितनी स्पीड पर गाड़ी चलानी है। विशेषज्ञों का कहना है कि सऊदी की महिलाओं को इतनी आज़ादी की आदत नही है इसलिए वो इस तरह की अजीबोगरीब हरकतें कर रही हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें