चलते चलते

"कोरोना वायरस समस्तीपुर के 'बकलोली' गाँव से पैदा हुआ है!" - शी जिनपिंग ने किया दावा

26, Mar 2020 By Ritesh Sinha

बीजिंग. जैसे ही चीन में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या थोड़ी कम हुई है, वहाँ के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपने मुख्य धंधे पर लौट आये हैं। सरकारी मीडिया द्वारा जारी किये गए एक बयान में उन्होंने दावा किया है कि कोरोना वायरस चीन से नहीं बल्कि समस्तीपुर जिले के बकलोली गाँव से पैदा हुआ है।

xi-jinping
हमें कुछ नहीं पता!

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए राष्ट्रपति ‘शी’ ने कहा कि, “देखिए! हम पर जबरदस्ती आरोप लगाये जा रहे हैं, इस मुद्दे से हमारा कोई लेना-देना नहीं है, ये तो इंडिया से आया है!

हुआ यूँ कि बीजिंग का एक लड़का हांग कुन लाई, इंडिया घूमने गया था, उसने समस्तीपुर के बकलोली गाँव की भी यात्रा की थी! जब वो वहाँ से लौटकर आया तो खाँसने और छींकने लगा, बस वहीं से इस बीमारी की शुरुआत हुई!” -कहते हुए वे CCTV फुटेज देखने लगे।

गौरतलब है कि चाइनीज सरकार ने इस महामारी की उत्पत्ति के लिए पहले तो अमेरिका को दोषी ठहराया था बाद में अप्रत्यक्ष रूप से इटली पर ही ठीकरा फोड़ दिया था। हालाँकि अब उन्होंने अपने पड़ोसी देश भारत पर ही सारा आरोप मढ़ दिया है।

उधर, बकलोली गाँव की सरपंच सुलेखा बाई ने ‘शी’ के इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है, उन्होंने कहा कि, “देखिए! अगर ये ‘कोरोना’ हमारे गाँव में पैदा होता तो इसका नाम फत्तन, गोलू या सुखिया टाइप होता! हम कुछ नहीं जानते साब!”

इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए देसी एक्सपर्ट फीताराम सेचुरी ने कहा है कि, “देखिए! अगर कॉमरेड ‘शी’ ऐसा कह रहे हैं तो जरूर दाल में कुछ काला है, हमें उनकी बातों को हल्के में नहीं लेना चाहिए, एट-लीस्ट मैं तो नहीं लेता! सुलेखा बाई के जवाब में भी कोई दम नहीं है, हम इसकी जांच की मांग करते हैं!

केंद्र सरकार को जवाब देना पड़ेगा! इसके अलावा हम ये भी चाहते  हैं कि सुप्रीम कोर्ट की मॉनिटरिंग में निष्पक्ष जाँच करवाई जाए! क्या पता ये इंडिया से ही पैदा हुआ हो?” -सेचुरी ने आगे बताया।



ऐसी अन्य ख़बरें