Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

Windows-10 के अपडेट से परेशान युवक ने की आत्महत्या की कोशिश

30, Aug 2019 By Ritesh Sinha

भोपाल. सूचना मिली है कि सरोजिनी नगर में निखिल चौबे नाम के एक युवक ने Windows-10 के अपडेट से तंग आकर आत्महत्या की कोशिश की थी। ये तो अच्छा हुआ कि समय रहते उनके दोस्तों ने उसे देखा और तुरंत अस्पताल पहुँचा दिया, जहाँ उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। अस्पताल में निखिल को Windows XP वाला डेस्कटॉप उपलब्ध करवाया गया है जिससे उसकी हालत में तेज़ी से सुधार हो रहा है।

patient
अस्पताल में पड़ा निखिल

निखिल के दोस्तों का कहना है कि वो एक होनहार नौजवान है, सिगरेट पीने के अलावा उसमें कोई दोष नहीं है, सुंदर गर्लफ्रेंड भी है और सैलरी भी ठीक-ठाक उठाता है, यानि कि उसकी जिंदगी में आत्महत्या करने की कोई वजह है ही नहीं। ये तो Windows-10 का अपडेट है जिसने उसे ऐसा घिनौना अपराध करने के लिए विवश कर दिया।

अस्पताल की बेड पर पड़े निखिल ने हमें बताया कि, “मैंने Windows 10 का अपडेट बंद करने की बहुत कोशिश की भाईसाब लेकिन हर बार नाकामी ही हाथ लगी! ये अपडेट मेरे जिओ पैक को ऐसे चूस लेता है जैसे मुआ ‘जोंक’ शरीर से खून चूसता है! पता भी नहीं चलता!

35 दिनों तक अपडेट बंद करने वाला बटन भी दबाकर देख लिया फिर भी कोई फायदा नहीं हुआ! थर्ड पार्टी एप्स इनस्टॉल किया तो मेरा ‘सिस्टम’ वायरस लोगों का अड्डा बन गया! अब आप ही बताओ, मैं करूँ तो करूँ क्या? एकदम निराश हो चुका था, आगे कुछ नज़र नहीं आता था, इसी चक्कर में ये कदम उठा बैठा!” -कहते हुए उसने पव्वा साइज की शीशी में रखी एक सीरप, तीन चम्मच गटक ली।

Windows-10 को सिर्फ एक काम ही ठीक से करना आता है और वो है- ‘अपडेट’ इसके अलावा बाकी सब काम जनाब ले-देकर करते हैं! आग लगे ऐसी Windows में!” -कहते हुए निखिल की आँख लग गई।

‘निखिल ने आत्महत्या करने के लिए कौन सा तरीका अपनाया था?’ -ऐसा पूछे जाने पर उसके दोस्त चेतन ने बताया कि, “कुछ नहीं! साले ने चेतन भगत की पुस्तक पढ़नी शुरू कर दी थी! इसीलिए बच गया, अरुंधति रॉय को पढ़ता तो मुश्किल था!”



ऐसी अन्य ख़बरें