चलते चलते

अपने सबसे बड़े दुश्मन को Amazon फायर स्टिक दान कर दी युवक ने, दुश्मन ने नाक रगड़कर माफ़ी मांगी

14, May 2020 By Ritesh Sinha

भोपाल. रवि और प्रतीक पहले अच्छे दोस्त हुआ करते थे लेकिन एक दिन ‘चखना’ ज्यादा खाने को लेकर दोनों में मारपीट हो गयी और उस दिन से दोनों पक्के दुश्मन बन बैठे। दोनों एक दूसरे का चेहरा देखना भी पसंद नहीं करते थे, रवि ने तो एक युवक को सिर्फ इसलिए पीट दिया था क्योंकि उसका नाम भी प्रतीक था, यानि दुश्मनी इस लेवल पर पहुँच गयी थी।

fire-stick
दुश्मन को भी ना मिले!

रवि के पास Amazon कंपनी का एक Fire-Stick था जिससे वो अक्सर परेशान रहता था। अपने आप रिस्टार्ट हो जाना या स्लीप मोड में चले जाना, Fire-Stick की पहचान बन गई थी।

प्रोडक्ट की घटिया क्वालिटी से परेशान रवि को एक आईडिया आया कि, “क्यों ना मैं इसे प्रतीक को दान कर दूँ ताकि वो भी मेरी तरह इसके नखरे उठाकर पागल हो जाए। अपने दुश्मन से बदला लेने का ये अच्छा तरीका है!”

यही सोचकर उसने अपना फायर स्टिक, रात को प्रतीक के घर के बाहर दरवाजे के पास रख दिया। सुबह प्रतीक ने जब दरवाजा खोला तो फ्री में फायर स्टिक पाकर खुश हो गया।

पर उसे क्या पता था कि ये रवि की चाल है? उसकी जिंदगी में फायर-स्टिक के प्रवेश करते ही प्रतीक के बुरे दिन शुरू हो गए। ना एलेक्सा काम करता था, ना रिमोट! एन वक्त में ही स्टिक अचानक ‘टें’ बोल देता था और प्रतीक झुंझला उठता था। उसकी जिंदगी नरक बन गयी। उधर, प्रतीक की ये हालत देखकर रवि के दिल में ठंडक पहुँच रही थी।

एक दिन उसे कहीं से पता चल गया कि ये सब रवि ने उससे बदला लेने के लिए किया है। वो दौड़ते हुए रवि के पास गया और उसके पैरों में गिर पड़ा, उसने नाक रगड़ते हुए कहा- “भाई मुझे माफ़ कर दो! चखना ज्यादा खाने की इतनी बड़ी सजा मुझे मत दे! मै हाथ जोड़कर तुझसे माफ़ी मांगता हूँ!

ये फायर स्टिक तू अपने पास रख ले, मुझे नहीं चाहिए, इससे गंदी चीज मैंने आज तक नहीं देखी!” -कहते हुए प्रतीक गिड़गिड़ाने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें