Monday, 17th June, 2019

चलते चलते

लैंडिंग के समय टायर ज़मीन पर लगते ही युवक ने नहीं किया मोबाइल डेटा 'ऑन', कंपनी ने कनेक्शन काटा

29, Oct 2018 By bharatmohta

नयी दिल्ली. धन-धना-धन डेटा के इस दौर में एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है, जहाँ एक युवक ने प्लेन लैंड होने के पाँच मिनट बाद भी मोबाइल डेटा ऑन नही किया था। सूचना मिली है कि अंकित उर्फ़ ‘अंकू’ बैंगलोर से दिल्ली वाली फ्लाइट पर सवार था और उसने ये गलती जान-बूझकर की है। अंकित के सहयात्रियों ने बताया कि, “हम सबने तो टायर के रनवे पर टच होते ही ‘डाटा’ ऑन कर लिया था, लेकिन वो तो हाथ पे हाथ धरकर बैठा था, उसके पास स्पीडटेस्ट के ग्लोबल लीडर्स ‘Ookla’ द्वारा सुसज्जित नेटवर्क भी था, फिर भी ना जाने कैसे उसने अपने आपको रोक लिया!”

mobile addiction
एयरपोर्ट के बाहर आने पर ही अंकित ने देखा मोबाइल

उधर एयरटेल ने इस घटना से अपना पल्ला झाड़ते हुए बयान जारी किया है कि “कोई और उपभोक्ता ऐसी गलती ना करे इसलिए हमने सख्त संदेश देने के लिए अंकित का कनेक्शन काट दिया है,  अब उसका सिम किसी काम का नहीं है!”

प्लेन में अंकित के साथ बैठी युवती नेहा का कहना है कि “मुझे तो तभी शक हो गया था जब उसने एयरहोस्टेस की पहली अनाउंसमेंट सुनते ही अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया था!” फिर युवती ने आगे अंग्रेजी झाड़ते हुए कहा “हू डस दैट? व्हाट अ लूजर!”

मनोवैज्ञानिकों की मानें तो अंकित एक प्रकार की दिमागी बीमारी का शिकार है जिसमे आसपास के वास्तविक चीज़ों को देख कर इंसान मोबाइल के बारे मे कुछ समय के लिए भूल जाता है। बीमारी बढ़ जाने पर तो मरीज कभी-कभी पूरे दिन भर मोबाइल छोड़कर खेल कूद, घरवालों से बातचीत, दोस्तो से मुलाकात जैसी ख़तरनाक गतिविधियों मे लग जाता है।

वहीँ इस खबर ने अब सियासी रंग भी ले लिया है। कांग्रेस ने इसे भाजपा के डिजीटल इंडिया की विफलता बताया है और केजरीवाल ने मोदी जी की। जवाबी हमले में भाजपा के संबित पात्रा ने उल्टा कांग्रेस से ही पूछ लिया “70 साल तक मोबाइल डेटा सोने की कीमत पर मिल रही थी तब तुम कहाँ थे? आम आदमी एयरपोर्ट पे तो क्या घर पे भी डेटा नही उपयोग करता था 70 साल तक, इसे किसकी विफलता मानें?” उधर, अंकित अपने लिए नया ‘SIM’ खरीदने के लिए दर-दर भटक रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें