चलते चलते

CAB के चलते 'ऊबर' और 'ओला' को भारी नुकसान, भाजपा समर्थक रोज कर रहे हैं धड़ल्ले से अनइंस्टॉल

30, Dec 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. कहते हैं कि बच्चे इस दुनिया में सबसे ज़्यादा मासूम होते हैं, उन्हें किसी से कोई मतलब नहीं होता लेकिन ‘भक्त’ उनसे भी ज़्यादा मासूम होते हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे, ये तो आप आगे पढ़कर स्वयं समझ जाएँगे।

uber
‘उबर’ अनइंस्टाल करता एक युवक

CAB पर बढ़ती आग के बाद कुछ भक्तों ने ऊबर और ओला की रेटिंग गिरा दी है, कुछ ने तो #uninstallCAB तक का हैशटैग चला दिया है। क्या है पूरा मामला आइये जानते हैं-

ऊबर के मालिक जोसेफ मिश्रा ने फ़ेकिंग न्यूज से बातचीत के दौरान बताया कि कैसे भारत के एक कानून के कारण उनकी कंपनी की ऐसी-तैसी हो गयी है।

जोसेफ ने कहा, “पिछले दिनों हमारी ऐप को प्लेस्टोर और एप स्टोर से भारी मात्रा में अनइंस्टॉल किया गया, इसके पीछे का कारण हमें तब समझ आया जब कुछ भाजपा समर्थकों ने अनइंस्टॉल करते हुए लिखा कि भारत में बस अब मोदी का ‘CAB’ चलेगा, ओला-उबर नहीं!

हमने सफाई भी दी की इस कैब का उस ‘CAB’ से कोई लेना-देना नहीं है, फिर भी वो नहीं माने! हमारी एप्प की रेटिंग 4 से 1.5 पर आ चुकी है, आशा है समझदार लोग वापस अच्छी रेटिंग दें!”

सुनने में आया है कि बाबा रामदेव ने इसका फायदा उठाकर अपनी खुद की कैब एप्प निकालने का निर्णय लिया है, जिसका नाम UBER और OLA से मिलता जुलता है, ‘कुबेर’ और ‘भोला’ रामदेव ने तो इनके लॉंच की तैयारी भी शुरू कर दी है, जो कि अगले महीने की 17 तारीख है।

हालाँकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, पिछली बार सर्फ़-एक्सल से बदला लेने के लिए भक्तों ने माइक्रसॉफ्ट एक्सेल अनइंस्टाल कर दिया था।

आशा है कि कभी कोहीनूर हीरे से दुश्मनी निकालने के चक्कर में ये लोग कंडोम का इस्तेमाल ही करना ना बंद कर दें।



ऐसी अन्य ख़बरें