Tuesday, 19th November, 2019

चलते चलते

फ़ोन और टीवी के बाद जल्द ही गाड़ी लॉंच करेगा एप्पल, स्टीयरिंग, ब्रेक और इंजन लेना होगा अलग से

09, Sep 2019 By Guest Patrakar

कैलिफोर्निया.  फ़ोन, टैबलेट, लैपटॉप और कॉर्ड के बाद अब एप्पल अपनी नयी गाड़ी लॉंच करने जा रही है। गाड़ी का यह मॉडल ‘एप्पल कार-1’ के नाम से जाना जाएगा, जिसके पार्ट्स जर्मनी में बनेंगे तथा असेम्बल चीन और भारत में होंगे। इसके बारे में अतिरिक्त जानकारी के लिए हमने एप्पल CEO टिम कुक से बातचीत की।

apple
गाड़ी भी कतार में!

टिम ने कहा “हमें बहुत से लोगों ने कहा कि हमारे अन्य गैजेट की तरह इसी कंपनी की एक गाड़ी मिल जाती तो मज़ा आ जाता! इसलिए हमने इसे डिज़ाइन करना शुरू कर दिया। इस गाड़ी को बनाने के लिए हमें आठ साल का समय लगा!

इस गाड़ी के अंदर ब्रेक और गियर बॉक्स है, यह आपकी कमांड से चलेगी लेकिन इसकी बैटरी छह घंटे में डेड हो जाएगी! इसलिए उसके साथ हम स्टीयरिंग और पावर इंजन अलग से बेच रहे हैं! अगर किसी ग्राहक को इसे डीजल से चलाना है तो इन दोनों चीज़ों को अलग से ख़रीदना पड़ेगा!”

“क्या करें भाईसाब! हम आदत से मज़बूर हैं, हम हर छोटी से छोटी चीज़ अलग से बेचते हैं और उसमें भी दबाकर पैसा वसूल लेते हैं! फोन का चार्जर अलग से बेच दिया हमने पिछले दशक में!” -कुक ने आगे बताया।

सूत्रों की मानें तो एप्पल ने इसकी क़ीमत कुछ सोलह लाख के क़रीब रखी है और अगर आप इसके साथ स्टीयरिंग और इंजन भी लेंगे तो आपको 3-4 लाख रुपये अलग से देने पड़ेंगे!

इसके अलावा इसमें सन रूफ़ लगवाने के लिए भी आपको क़रीब 2 लाख तक और ख़र्च करने पड़ सकते हैं। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि इन सब चोचलों के बाद भी यह गाड़ी प्रीबुक होनी शुरू हो गई है। चीन से किडनी बेचे जाने की ख़बरें लगातार आ रही हैं।

यह गाड़ी अगले साल फ़रवरी में लॉंच होगी और मार्च से सडकों में दिखनी शुरू हो जाएगी। इसी दौरान MG हेक्टर का नया मॉडल और टेस्ला की नयी गाड़ी भी भारतीय मार्केट में नज़र आ सकती है, ये दोनों पुराने मॉडल की कंपनी है इसलिए इनकी गाड़ियों में ब्रेक, इंजन वगैरह अलग से खरीदना नहीं पड़ता है।



ऐसी अन्य ख़बरें