Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

कमेंट्री करते हुए आपस में भिड़ गए गावस्कर और मांजरेकर, बीच में फँस गई बेचारी 'हिंदी'

12, Sep 2018 By Ritesh Sinha

ओवल/लंदन. इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच में कमेंट्री कर रहे दिग्गज क्रिकेटर गावस्कर और मांजरेकर आपस में ही भिड़ गए। इससे भी बड़ी दुःख की बात ये है कि दोनों उस समय हिंदी में कमेंट्री कर रहे थे, नतीजा यह हुआ कि इन दोनों के झगड़े में बेचारी ‘हिंदी’ बीच में फँस गई।इनको आपस में लड़ता हुआ देखकर आशीष नेहरा राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया, जिससे समय रहते ‘हिंदी’ को बचा लिया गया।

gavaskar
इन दोनों के बीच फँस गई ‘हिंदी’

हुआ यूँ कि आखिरी टेस्ट मैच के आखिरी दिन गावस्कर और मांजरेकर मैच का आँखों देखा हाल सुना रहे थे, उस समय पंत की जबरदस्त बैटिंग चल रही थी। इंग्लैंड टीम के फील्डर्स के बारे में बात करते हुए मांजरेकर ने कहा कि जोस बटलर सिली-मिडऑफ में अच्छी फील्डिंग कर रहे हैं।

यह सुनकर गावस्कर ने उन्हें टोंकते हुए कहा कि ‘बटलर जहाँ खड़ा है उसे सिली-मिडऑफ नहीं ‘सिली-पॉइंट’ कहते हैं! ठीक से देखकर तो बोला कर!’

बस, यही बात मांजरेकर को चुभ गई, उन्होंने भी कह दिया ‘चलता है, ज्यादा अंतर नहीं है!’ इस तरह दोनों में सिली-मिडऑफ को लेकर सिली डिस्कशन शुरू हो गई। थोड़ी देर में ही डिस्कशन ने झगड़े का रूप ले लिया।

गावस्कर ने कहा “तू मुजसे ज्यादा जानता ऐ क्या? तुझे पता ऐ तेरे नाम के A lot of  जोक्स बनते हैं, सोशल मीडिया पे?” तो मांजरेकर भी तमतमा गए- “yes i know! बट कमेंट्री के बारे में Nobody can सिखा सकता मुजे!”

इन दोनों को लड़ता हुआ देखकर आशीष नेहरा, तेज़ी से अंदर आए और देखा कि इन दोनों के बीच बेचारी हिंदी दब गई है, उन्होंने तुरंत उसे बाहर निकाला। तब तक उसे काफी चोट आ गई थी और वो साँस भी नहीं ले पा रही थी। बाद में ‘हिंदी’ को लंदन के सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया जहाँ मैडम की हालत स्थिर बताई जा रही है। माना जा रहा है कि अगर वहाँ पर लक्ष्मण या आकाश चोपड़ा और होते तो यह दुर्घटना और भी भयानक हो सकती थी।



ऐसी अन्य ख़बरें