Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

नशे वाला कफ़ सिरप पीकर सस्पेंड होने पर बोले पृथ्वी शॉ- "कोच शास्त्री के बैग से ली थी दवाई!"

05, Aug 2019 By Guest Patrakar

ब्यूरो. डोप टेस्ट में फ़ेल होने के बाद युवा बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ ने अपनी ज़ुबान खोली है और बताया है कि कैसे वो एक कफ सिरप के कारण क्रिकेट से इतना दूर हो गये हैं। ‘माचिस’ मैग्ज़ीन को दिए गये इंटरव्यू के दौरान पृथ्वी ने क्रिकेट और डोपिंग से जुड़ी कई बातें साझा कीं।

prithvi
दवाई पीने के बाद पृथ्वी शॉ

पृथ्वी ने आरोपों पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा “मैं लीगली किसी भी तरह का नशा नहीं कर सकता, ना ही मेरे घर में कोई नशा करता है,  मैं क्रिकेट को अपना सब समर्पित कर चुका हूँ!

दिलीप ट्रॉफी के एक मैच के दौरान तेज़ बारिश हो रही थी, मैं भीग गया था तो मुझे खाँसी हो गयी! उसी दिन वर्ल्ड कप की टीम अनाउंस होने वाली थी इसलिए भारतीय कोच रवि शास्त्री भी वहाँ मौजूद थे!

मैंने शास्त्री को अपनी खराब सेहत के बारे में बताया तो उन्होंने अपने बैग में से एक दवाई निकाली और मुझे पिला दी। मैंने शीशी का परीक्षण किये बगैर 20ML दवाई गटक भी ली!

शास्त्री ने मुझे बताया कि इस दवाई से नींद आती है, सो जा! तो मैं चादर तानकर सो गया! मुझे क्या पता था कि ऐसा हो जाएगा! थोड़े दिन बाद जब डोप टेस्ट हुआ तो मेरे खून में ‘शराब’ के अवशेष प्राप्त हुए! डॉक्टर साब कहते हैं कि मैंने कम से कम 6 पैग शराब पी है जबकि मैंने कभी दारू को हाथ तक नहीं लगाया है!” -पृथ्वी ने आगे बताया।

हमने इस बारे में कोच रवि शास्त्री से भी बात की, जिन्होंने कहा कि उन्हें इस घटना के बारे में कुछ भी याद नहीं है। हालाँकि मौक़े पर मौजूद मोहम्मद कैफ़ ने सारा कच्चा-चिट्ठा खोलकर रख दिया।

कैफ़ ने कहा “शास्त्री को अक्सर चीज़ें याद नहीं रहती! एक दिन तो श्रीलंका और पाकिस्तान का मैच था और वो ग्राउंड में पिच रिपोर्ट लेने चले गये थे, यह सोचकर कि आज भारत का मैच है!

हो सकता है कि वो छुटकू ‘पृथ्वी’ सच कह रहा हो लेकिन इसमें कोच साब की कोई गलती नहीं है, क्योंकि उन्होंने जो दारू ‘पृथ्वी’ को दी थी वो तो उनके लिये ‘दवा’ के सामान ही है! ऐसे में उन्हें सीधे तौर पर जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता!”

ख़ैर, मुद्दा चाहे कुछ भी हो पृथ्वी की इस दुर्दशा के बाद टीम का कोई भी सदस्य अब शास्त्री हाथों से कुछ भी पीने या खाने की ग़लती नहीं करेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें