Friday, 20th September, 2019

चलते चलते

नये कोच को प्लेयर्स की पत्नियों के बीच चल रहे झगड़े को भी शांत कराना होगा : BCCI ने रखी शर्त

28, Jul 2019 By Ritesh Sinha

मुंबई. नये कोच का ऐलान अभी हुआ ही नहीं है कि कि उनके सर पर काम का बोझ बढ़ता जा रहा है। BCCI ने कोच पद के लिए आवेदन करने वालों के लिए एक नयी शर्त जोड़ दी है, बोर्ड का कहना है कि जो भी नया कोच बनेगा उसे प्लेयर्स को कोचिंग देने के अलावा, उनकी पत्नियों के बीच चल रहे युद्ध को भी ख़त्म कराना होगा! बीसीसीआई के इस फैसले के बाद जो लोग इस पद के लिए अप्लाई करना चाहते थे उन्होंने अपने कदम वापस खींच लिये हैं।

bcci
नयी शर्त जोड़ते BCCI के अधिकारी

सलाहकार समिति के अध्यक्ष कपिल देव ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “देखिए! अब पानी सर के ऊपर चला गया है, प्लेयर्स की पत्नियाँ, कर्टेन लेक्चर की आड़ में हमारे भोले-भाले प्लेयर्स को बिगाड़ रही हैं! एक-दूसरे के खिलाफ ख़बरें लीक भी की जा रही हैं! ‘इंस्टाग्राम’ जंग का मैदान बन गया है! ये अच्छी बात नहीं है!”

इसीलिए इनका झगड़ा शांत करवाने का बोझ भी हमने नये कोच पर डाल दिया है, अब वो जाने उसका काम जाने! धोनी की बल्लेबाज़ी सुधारना अभी कोई जरूरी नहीं है, पहले महिला डिपार्टमेंट को साधा जाये!” -कपिल ने आगे बताया।

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इस एक्स्ट्रा काम के लिये कोच साब को चार सौ रुपये अलग से मिलेंगे। एक झगड़ा शांत कराओ और चार सौ रुपये ले जाओ!

उधर, BCCI की इस एकतरफा कार्रवाई से भावी कोच बौखला गये हैं। हेड कोच के लिए अप्लाई करने के बारे में सोच रहे महिला जयवर्धने ने बताया कि, “यूँ अचानक ऐसी शर्त रखकर BCCI ने ठीक नहीं किया है! वैसे भी मैं मुझे इंस्टाग्राम के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है!”

वहीँ, रवि शास्त्री इस नयी शर्त से खासे उत्साहित हैं। वैसे भी उनके हेड कोच बनने के चांस लगभग 99% हैं, अब इस नयी शर्त की वजह से बचे-खुचे प्रतिभागी भी रेस से बाहर हो गये हैं। अब उनका हेड कोच बनना सौ प्रतिशत कन्फर्म हो गया है।



ऐसी अन्य ख़बरें