Thursday, 20th September, 2018

चलते चलते

'इंटरनेशनल लूडो चैंपियनशिप' में मुंबई लोकल के पैसेंजर्स का दबदबा, जीत लिए तीनों मेडल

27, Jul 2018 By बगुला भगत

मुंबई. जर्मनी में हुई ‘वर्ल्ड लूडो चैंपियनशिप’ में मुंबई लोकल के पैसेंजर्स का दबदबा रहा है। हैम्बर्ग में 20 से 26 जुलाई तक हुई इस चैंपियनशिप में लोकल के प्लेयर्स ने 120 देशों के खिलाड़ियों को पछाड़ते हुए सारे मेडल जीत लिये। प्रधानमंत्री मोदी ने लूडो में भारत का नाम रोशन करने के लिए सभी पदक विजेताओं को बधाई दी है।

Mumbai Local- Ludo
लोकल में वर्ल्ड कप की तैयारी करते चार दोस्त

गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम के सदस्यों के नाम भव्येश, मितेश, नितिन और सुमित हैं, जो मुंबई लोकल में विरार से दादर तक चलते हैं। इन चारों दोस्तों ने गेट के पास अपनी जगह फ़िक्स कर रखी है और ट्रेन में चढ़ते ही गेम चालू कर देते हैं। जिधर ये खड़े होते हैं, उस साइड से किसी को चढ़ने भी नहीं देते ताकि उनकी कन्संट्रेशन भंग ना हो!

चूंकि विरार से दादर का सफ़र लगभग डेढ़ घंटे का होता है, इसलिए दादर आने तक रोज़ इनके तीन-तीन गेम हो जाते हैं। अपने गेम में ये चारों इतने डूबे होते हैं कि कब कौन सा स्टेशन आया, इन्हें कुछ पता नहीं चलता। ऑफ़िस में भी ये शाम के गेम के बारे में ही सोच रहे होते हैं।

‘ऑल इंडिया लूडो एसोशिएन’ (आइला-AILA) के अध्यक्ष गणपतराव गोटीवाला ने बताया कि मुंबई लोकल में आधे पैसेंजर लूडो ही खेल रहे होते हैं, जिन्हें देखकर लगता है कि ये ट्रेन में लूडो खेलने ही आये हैं। इस लोकप्रियता की वजह से अगले ‘लूडो वर्ल्ड कप’ का आयोजन मुंबई लोकल में ही किया जायेगा। जिसकी तैयारियाँ अभी से शुरु कर दी गयी हैं।

हर लोकल ट्रेन में लूडो प्लेयर्स के लिए एक ‘लूडो कोच’ लगाया जायेगा, ताकि लूडो प्लेयर बिना किसी व्यवधान के मस्त होकर खेल सकें। इस कोच में सिर्फ़ लूडो प्लेयर ही सफ़र कर सकेंगे। जो भी इसमें लूडो खेलता नहीं मिलेगा, उसे 6 महीने की जेल या 10 हज़ार रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें