Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

मोहम्मद इरफान ने कहा- "गंभीर का करियर मैंने ख़त्म किया था!" तो धोनी बोले- "..तो फिर मैंने क्या किया था!"

07, Oct 2019 By Ritesh Sinha

खेल ब्यूरो. पाकिस्तानी टीम से बाहर चल रहे तेज़ गेंदबाज़, मोहम्मद इरफान ने दावा किया है कि, ‘गौतम गंभीर मुझसे डरते थे, वो मुझसे आँख भी नहीं मिला पाते थे और उनका करियर भी मेरी गेंदबाज़ी की वजह से ही ख़त्म हुआ है!’ मोहम्मद इरफान के इस बयान के बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान, महेंद्र सिंह धोनी आग-बबूला हो गये हैं।

dhoni-gambhir
धोनी और गंभीर! एक साथ!

धोनी ने एक प्रेस-कॉन्फ्रेंस बुलाकर इरफान के दावों को झूठा बताया है। उन्होंने कहा कि, “अगर गौतम गंभीर का करियर उस ‘लंबू’ इरफान की बजह से ख़त्म हुआ है तो फिर मैं वहाँ क्या कर रहा था!

आजकल कोई भी मुँह उठाके किसी दूसरे का क्रेडिट अपने सर पर ले लेता है और आप लोग उसकी बातों को सच मान लेते हो!” -उन्होंने मीडिया को आईना दिखाते हुए कहा।

प्रायः मीडिया से दूर रहने वाले धोनी ने आगे कहा कि, “ये पाकिस्तानी बॉलर लाइमलाइट में आने के लिए कुछ भी बोल रहा है, आजकल उसके देश में क्रिकेट फिर से शुरू हो गया है ना, इसलिए टीम में वापसी के लिए अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बन रहा है!!

मैं साफ-साफ़ कह देना चाहता हूँ कि जो कुछ भी हुआ है सब मेरे सौजन्य से हुआ है क्योंकि उस समय कप्तान भी मैं ही था! आप कोई भी अखबार उठाकर देख लीजिये आपको सच पता चल जाएगा! उस लंबू की कोई औकात नहीं है, गंभीर का करियर कोई टैलेंटेड बंदा ही ख़त्म कर सकता है!” -उसने आगे बताया।

धोनी ऐसा कह ही रहे थे कि उन्हें किसी का फोन आ गया,  वो ‘हैलो..हैलो’ कहते हुए बाहर चले गए और पाँच मिनट बाद ही लौटे। लौटते ही वो अपनी बातों से मुकर गए और हड़बड़ाते हुए बोले- “पता नहीं आज मुझे क्या हो गया है! देखिए! अभी जो मैंने आप लोगों से कहा वो सब झूठ है! गंभीर तो मेरा दोस्त है, भला मैं उसका करियर क्यों तबाह करूँगा?”

मीडिया वालों ने हमारे बीच आग लगाने की बहुत कोशिश की है, अब उस लंबू की वजह से स्पष्ट हो गया कि ये सारा किया-रा उस पाकिस्तानी का है! मैं बाइज़्ज़त बरी हो गया!” -उन्होंने अपनी बात समाप्त की और पीसी छोड़कर वहाँ से चलते बने।



ऐसी अन्य ख़बरें