Tuesday, 25th September, 2018

चलते चलते

'ओ गेंद, कल स्विंग मत होना!' -अब भारतीय बल्लेबाज अपने बल्लों पर​ ये लिखकर करेंगे बैटिंग

05, Sep 2018 By vish

लंदन. भारतीय क्रिकेट टीम के फैन्स के लिये एक राहत की खबर आई है, टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने इंग्लैंड के गेंदबाजों के छक्के छुड़ाने का अनोखा तरीका ढूंढ निकाला है। विश्वसनीय सूत्रों से पता चला है कि लंदन में होने वाले आखिरी टेस्ट में भारतीय बल्लेबाज अपने बल्लों पर ‘ओ मेरी प्यारी गेंद, कल स्विंग मत होना!’ ऐसा लिखकर मैदान में उतरेंगे! माना जा रहा है कि ऐसा करने से गेंद वाकई में स्विंग नही होगी!

bat
अब इसी का सहारा है!

इस मुद्दे पर और ज्यादा जानकारी के लिए हमने टीम-इंडिया के एक सपोर्ट स्टाफ़ से बातचीत की। नाम गुप्त रखने की शर्त पर उन्होंने बताया कि “ये ‘स्विंग’ नामक चुड़ैल ने हमारे बल्लेबाजों का जीना हराम कर रखा है! मूईं हर साल एक-दो सीरीज में चली आती है और हमारे आधा दर्जन बल्लेबाजों का भक्षण कर जाती है! और तो और ये उसी समय शिकार पर निकलती है जब हमारे धुरंधर देश से बाहर टेस्ट मैच खेल रहे होते हैं!”

“तो इस चुड़ैल, मेरा मतलब स्विंग का तोड़ आपने क्या निकाला है?” -ऐसा पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि “चौथा टेस्ट हारने के बाद हम सब लाॅबी में बैठ कर ‘Escape Plan’ नाम की पिच्चर देख रहे थे! उसी फिलीम ने हमें सोचने पर मज़बूर कर दिया, क्योंकि हम लोग भी बच निकलने का कोई रास्ता ढूँढ रहे थे! सच कहूँ तो सबसे पहले ये आईडिया मेरे दिमाग में ही आया था! हम सब शास्त्री के पास पहुँच गये और उसे सारा प्लान समझा दिया! वो भी यह जबरदस्त प्लान सुनकर बहुत खुश हुए!”

“लेकिन प्लान क्या है?” इसके जवाब में उन्होंने खुलासा कर ही दिया “जैसे पिच्चर में लोग अपने घरों के बाहर कुछ लिख कर चुड़ैल को अंदर आने से रोकते हैं वैसे ही हम भी बल्ले पर मैसेज लिख देंगे कि ‘ओ  मेरी प्यारी गेंद स्विंग मत होना!’ ऐसा लिखने पर उसे हम पर दया आ जाएगी और वो स्विंग होना भूल जाएगी! प्यार से रिक्वेस्ट करो तो बड़ी से बड़ी चुड़ैलें भी बात मान जाती हैं।” -कहते हुए वो अपने फ़ोन में अपनी बीवी की फ़ोटो देखने लगे।

जी भर कर फोटो देखने के बाद उन्होंने आगे बताया कि “पहले तो रवि शास्त्री एक हाथ में आधी भरी गिलास पकड़े हंसने लगे, कहे कि ‘ये सब अंधा-विश्वनाथ (अंधविश्वास) है, इससे कुछ नहीं होगा!’ तो मैंने भी कह दिया ‘क़ुछ’ तो आपसे भी नहीं हो रहा है, फिर ट्राई करने में क्या हर्ज़ है? यह सुनकर वो मान गए!”

शास्त्री से हरी झंडी मिलने के बाद सभी डिसाईड करने लगे कि बल्ले पर क्या लिखा जाए? पंत ने सुझाव दिया कि ‘ओ बाॅल, स्विंग मत करना’ लिखना चाहिए!

इस पर धवन ने घबराकर कहा, ‘ओ’ नहीं ‘ओये’ लिखो! नहीं तो बुरा मानकर और ज्यादा स्विंग होना शुरू कर देगी! उधर राहुल ने सुझाव दिया कि ‘ओ बाॅल, कल स्विंग मत होना’ लिख दिया जाए! जिसका शमी ने भी समर्थन किया। पिछले मैच में मोईन अली की फिरकी का शिकार हुए हार्दिक पाण्ड्या ने पीछे से आवाज़ लगायी “अबे ‘स्लैश’ करके स्पिन भी डाल देना!’ इस पर धवन ने फ़टाक से कहा, ‘हाँ भाई कोई रिस्क नहीं लेना अपन को!'”

और इस तरह फ़ाइनल हो गया कि सबके बल्लों पर लिखा जायेगा ‘ओ बाॅल, कल स्विंग/स्पिन मत होना’ मीटिंग के तुरंत बाद बल्ले पर लिखने के लिये लाल रंग की खास स्याही का आॅर्डर दे दिया गया।



ऐसी अन्य ख़बरें