Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

जलेबी कांड पर गौतम गंभीर ने दी सफाई , कहा- "दिल्ली में खाता तो जलेबी बनाने वाले चूल्हे से और बढ़ता प्रदूषण!"

18, Nov 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज और भाजपा सांसद, गौतम गंभीर अपनी जलेबी वाली फ़ोटो से विवादों में घिर गए हैं, लोग कह रहे हैं कि दिल्ली प्रदूषण से जूझ रही है और सांसद महोदय इंदौर में पोहा-जलेबी दबा रहे हैं। इस बीच ‘गंभीर’ ने पहली बार अपनी सफाई में कुछ कहा है, उनका कहना है कि दिल्ली में पोहा-जलेबी ना खाकर उन्होंने दिल्ली पर एहसान ही किया है।

Gambhir3
अपनी सफाई में दो शब्द कहते गंभीर

गंभीर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, “मुझे बचपन से ही  जलेबी खाने का बेहद शौक रहा है लेकिन ज्यादा प्रदूषण की वजह से मैं दिल्ली में जलेबी नहीं खा सकता था!

वो क्या है ना, जलेबी बनाने के लिए चूल्हा जलाना पड़ता है और आपको तो पता है, घासलेट से उठता धुँआ दिल्ली के प्रदूषण से दोस्ती करके यहाँ के मौसम को और अधिक जानलेवा बना सकता था!

दिल्लीवासी पहले से ‘ऑक्सीजन’ की कमी से जूझ रहे हैं, मेरे जलेबी के चक्कर में उन्हें और परेशानी होती!  इसीलिए मैंने ठान लिया था कि अगर पोहा-जलेबी खाऊँगा तो दिल्ली से बाहर जाकर ही खाऊँगा!

इंदौर में भारत और बांग्लादेश का मैच भी था और वहाँ अच्छा पोहा भी मिलता है, ऐसे में एक तीर से दो निशाने लगा लिए! लगता  है दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए जो मैंने बलिदान दिया है वो कुछ लोगों को रास नहीं आया है?” -उन्होंने नाम लिए बिना केजरीवाल पर निशाना साधा।

गंभीर की इस सफाई के बाद मनोज तिवारी ने भी उनका समर्थन किया है, उन्होंने कहा कि, “गौतम गंभीर एक राष्ट्रवादी पुरुष हैं, उन्होंने दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए एक सोचा-समझा कदम उठाया है!

मैं भी दिल्ली के प्रदूषण को नियंत्रण में रखने के लिए यूपी के बॉर्डर पर जाकर ‘माल’ फूँकता हूँ! फिर भी ना जाने क्यों लोग हम पर ही प्रदूषण को सीरीयसली ना लेने का इल्ज़ाम लगाते हैं?”

गंभीर की इस सफाई के बाद मामला थोड़ा ठंडा हो गया है, उधर दिल्ली का प्रदूषण भी कम होता दिख रहा है, ऐसे में हम तो यही आशा करते हैं कि गौतम गंभीर अपने बिजी रूटीन में से थोड़ा समय निकाल कर..  भारत का अगला मैच देखने जरूर जाएँ।



ऐसी अन्य ख़बरें