Saturday, 20th July, 2019

चलते चलते

IPL ख़त्म होते ही बेरोज़गार हुए सटोरिये, कांग्रेस ने इसके लिए भी 'मोदी' को दोषी ठहराया

18, May 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. आईपीएल ख़त्म हो चुका है और इसी के साथ ही सटोरियों का धंधा भी मंदा हो चला है। सूत्रों की मानें तो इस साल IPL में क़रीब 600 करोड़ रुपए का सट्टा लगा था लेकिन अब सट्टा बाज़ार ठंडा हो गया है। जाहिर है सटोरियों को इससे खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

Modi-Patel-Advani
ये मैंने नहीं किया है जी!

दिल्ली के एक ‘बुकी’ अर्जुन राठौर से हमने बात करी, उन्होंने बताया कि “IPL हमारे लिए किसी दिवाली से कम नहीं होता भाईसाब!

इन तीन-चार महीनों में हम करोड़ों का व्यापार करते हैं! लेकिन अब जबकि IPL ख़त्म हो चुके हैं तो हमारे पास कुछ ख़ास काम रह नहीं गया है!”

वैसे वर्ल्ड कप आ रहा है लेकिन उसमें इतना सट्टा नहीं लगता! ऐसे में हमारे पास ‘सलमान की शादी’ और ‘आज की रैली में राहुल गाँधी राफ़ेल की कितनी क़ीमत बोलेंगे’ पर सट्टा खिलाने के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है!”

हालाँकि सटोरिये इस हालात का सामना करने के लिए तैयार हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी ने इस मौक़े को भी प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करने के लिए इस्तेमाल कर लिया है।

पार्टी के प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके आरोप लगाया कि, “मोदीजी की वजह से अवैध सट्टेबाज़ भी चैन से जी नहीं पा रहे हैं, जबकि हमारे कार्यकाल में चैम्पीयंस लीग से लेकर अन्य सिरीज़ साल भर चलती रहती थीं, जिससे सटोरियों को रोज़गार  मिलता रहता था, वे भूखे नहीं मरते थे! अब तो कुछ नहीं होता इसलिए प्रधानमंत्री मोदी को नैतिक आधार पर इस्तीफ़ा दे देना चाहिए और राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री बना देना चाहिए!”

कांग्रेस पार्टी के इस ऐतिहासिक आरोप का प्रधानमंत्री मोदी क्या जवाब देते हैं ये देखने वाली बात होगी।



ऐसी अन्य ख़बरें