Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

नवरात्रि के दिनों में चिकन बिरयानी का सपना देख रहा युवक गिरफ्तार, CBI जाँच की उठी मांग

06, Oct 2019 By Fake Bank Officer

लखनऊ. नवरात्रि के इस पावन पर्व में जहाँ अधिकांश श्रद्धालु उपवास पर चल रहे हैं और संयमित जीवन जीने का प्रयास कर रहे हैं, वहीँ देश में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो खुलेआम चिकन बिरयानी के सपने देख रहे हैं, ‘खुलेआम’ का मतलब है रात को सोते समय, सोते समय का मतलब है नींद में!

sleeping-man
बिरयानी के सपने देखता चिरोंजी

इन लोगों को ना सिर्फ अपनी, बल्कि दूसरों की धार्मिक भावनाओं की कोई परवाह नहीं है, ऐसे ही एक युवक को UP पुलिस ने कल गिरफ्तार कर लिया जब वो चिकन-बिरयानी के हसीन सपनों में खोया हुआ था!

चिरोंजीलाल कोपकर नाम का यह युवक, वैसे तो एक धार्मिक परिवार से आता है पर शायद इसके संस्कारों में कहीं खोट आ गयी और वह राह से भटक गया। साल भर तो यह नॉनवेज दबा कर खाता ही था, बड़ी मुश्किल से घरवालों ने इसे नवरात्रि में शाकाहार भोजन लेने के लिए तैयार किया था।

चिरौंजी ने आधे मन से उनकी बात मान ली थी किंतु उसका ध्यान अब भी उसी ओर उलझा रहता था। एक दिन जब उसके घरवालों ने नींद में उसे उँगलियाँ चाँटते हुए रंगे हाथों पकड़ा तो पता चला कि वह तो सपने में चिकन बिरयानी खा रहा था। उसी वक़्त चिरौंजी का फूट गया… भांडा!

पलक झपकते ही यह खबर पूरे शहर में फैल गयी और ना जाने कहाँ से उनके लखनऊ पुलिस ने धावा बोल दिया। पुलिस ने जब चिरोंजी को आत्मसमर्पण करने को कहा तो वो आलमारी के पीछे छुप गया, बाद में घरवालों ने उसे घसीटते हुए कानून के हवाले कर दिया क्योंकि चिरौंजी की बेरोज़गारी की वजह से वे पहले ही परेशान थे।

इस घटना पर देश भर में कैंडल मार्च हो रहे हैं और चिरौंजी का मुकदमा फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की मांग भी की जा रही है। खबर लिखे जाने तक कोई भी वकील चिरोंजीलाल की पैरवी करने को तैयार नही था।



ऐसी अन्य ख़बरें