Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

'कोरोना' के डर से दिन भर हाथ-मुँह धोने वाला युवक हुआ गोरा, लगाए 'शी जिनपिंग जिंदाबाद' के नारे

19, Mar 2020 By Ritesh Sinha

रायपुर. कोरोना की वजह से एक देशी युवक के गोरा होने का मामला सामने आया है, कच्ची गली में रहने वाला आशीष साहू पिछले तीन साल से गोरा होने की भरसक कोशिश कर रहा था, इस दौरान उसने ना जाने कितने रुपये फेयरनेस क्रीम-पाउडर पर फूँक दिये पर कोई फायदा नहीं हुआ। गोरा करने वाली ऐसी कोई चीज नहीं जिसे उसने खरीदकर अपने चेहरे पर लगाया ना हो!

fair
मुँह धोता आशीष!

हालाँकि लाखों रुपये फूँकने के बाद भी वो जस का तस दिखता था, चेहरे पर कोई निखार नहीं आया। इसी बीच दुनिया के नक़्शे पर ‘कोरोना’ नामक वायरस का उदय हुआ।

कोरोना के डर से आशीष भी, दिन में दस बार हाथ-मुँह अच्छे से धोने लगा, वो भी साबुन से रगड़-रगड़कर! नतीजा ये हुआ कि अब वो अंग्रेज़ों की तरह दिखने लगा है। भारतीयों की भीड़ में आशीष अपने तेज द्वारा दूर से ही पहचाना जा सकता है।

जाहिर है उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं है। कल ही उसने अपने मोहल्ले में एक मार्च निकाला और ‘शी जिनपिंग जिंदाबाद’ के नारों से आसमान छेद दिया। हाँ, ये बात अलग है कि इस मार्च में आशीष अकेला ही निकला था, कोई और शामिल ही नहीं हुआ।

चेहरे पर निखार आने के बाद आशीष की चाल देखते ही बनती है, अब वो शहर में लहराके चलता है और एवरेज लुक वाली लड़कियों से बात भी नहीं करता।

फ़ेकिंग न्यूज से अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए उसने बताया कि, “देख भाई! ना मैं इस वायरस के खिलाफ एक शब्द सुनूंगा और ना ही शी जिनपिंग अंकल के खिलाफ! इन्हीं की वजह से तो आज मुझमें नया जोश आया है, मुझे क्या पता था कि ‘कोरोना’ की वजह से हाथ-मुँह धोने का ऐसा भी परिणाम हो सकता है!

पहले तो मैं भी चीन वालों को गाली देता था कि ये क्या कर दिया बे तुम लोगों ने लेकिन अब कोई शिकायत नहीं है, मेरी बरसों पुरानी इच्छा पूरी हो गयी! Thank you PRC. -कहते हुए आशीष फिर से मुँह धोने चला गया।



ऐसी अन्य ख़बरें