चलते चलते

चीन पर पहले हमला करने को लेकर 'ठेके' पर ही भिड़ गये दो जज़्बाती पियक्कड़

06, May 2020 By किल बिल पांडे

दिल्ली.  लॉकडाउन के तीसरे चरण में शराब की तमाम दुकानें खुलने के बाद, पूरे देश से शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए हैं। देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए पियक्कड़ों ने मोर्चा संभाल लिया है, ठेकों के सामने लगी लंबी-लंबी लाइनें इस बात की गवाही दे रही हैं।

Fighting Bros1
आपस में भिड़ते रमेश और सुरेश

गिरती अर्थव्यवस्था को उठाने का जज़्बा कुछ इस कदर दिखा, कि पियक्कड़ों ने ना तो सोशल डिस्टेंसिंग की चिंता की और न ही चेहरे को ढकने की जरूरत समझी।

इसी जज़्बे ने उस वक़्त गंभीर रूप ले लिया जब दो पियक्कड़ ठीक शराब के ठेके के सामने इस बात को लेकर भिड़ गए कि चीन पर पहले हमला कौन करेगा! घटना दिल्ली के करोल बाग इलाके की है।

रमेश और सुरेश नाम के दो पियक्कड़, शराब की दुकान खुलने के एलान के बाद रविवार रात दो बजे से ही ठेके के सामने अपना नंबर लगा कर बैठ गये थे। शुरुआती जाँच में पता चला है कि दोनों एक दूसरे को नहीं जानते थे और पहली बार ठेके के सामने लगी लाइन में ही मिले थे।

लाइन में खड़े एक दूसरे पियक्कड़ के मुताबिक, रमेश और सुरेश की दोस्ती देखते ही बनती थी, रात भर दोनों ने कोरोना, राजनीति, खेल, सिनेमा जैसे विषयों पर बड़ी विस्तृत चर्चा की। थोड़ा समय निकालकर उन्होंने अर्नब वाले मुद्दे को भी कवर कर लिया। इन्हीं सब बातों के बीच सुबह हुई और ठेका खुल गया।

ठेका खुलते ही यह आम सहमति बन चुकी थी कि इस मनहूस वायरस को दुनिया में फैलाने का काम चीन ने किया है अतः उसे सबक सिखाया जाना जरूरी हो गया है।

दोनों के विचार इतने मेल खा रहे थे कि दोनों ने एक दूसरे को अपना जिगरी दोस्त मान लिया और अपनी नयी दोस्ती के नाम पर वहीं जाम छलकाने भी शुरू कर दिए। बस, यहीं से मामला थोड़ा बिगड़ गया। थोड़ी ही देर में दोनों ही नशे के सुरूर में इतना बहके, कि चीन पर पहले हमला करने की जिद्द पकड़ बैठे।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, रमेश ने सबसे पहले चीन को कोसते हुए उस पर हमला करने की इच्छा जताई तो सुरेश भी जोश में आ गया, उसने कहा- “भाई तू घर में बैठकर ‘कौआ उड़, मैना उड़’ खेल और चीन को मुझ पर छोड़ दे! नामो-निशान मिटा दूंगा सालों की!’

सुरेश की यह बात रमेश को बिल्कुल पसंद नहीं आई, उसे लगा कि सुरेश उसकी मर्दानगी पर शक कर रहा है, वो जोश में आ गया और उसने सुरेश को हल्का सा धक्का दे दिया। यह धक्का सुरेश को नाली में गिराने के लिए काफी था। नतीजा ये हुआ कि सुबह सात बजे के आसपास इस दोस्ती की कलई खुल गई और दोनों एक दूसरे को गालियाँ देते हुए गुत्थम-गुत्था हो गये।

पूरे घटनाक्रम में दोनों की चार शराब की बोतलों का नुकसान हो गया, जिसे देख मौके पर मौजूद अन्य गुस्साये पियक्कड़ों ने अलग से दोनों पर अपनी तरफ से लात-घूँसे बरसा डाले।

इससे पहले कि मामला और बढ़ता, पुलिस ने बीच में आकर दोनों को अलग-थलग किया। करोल बाग थाने के एसएचओ ने मीडिया को जानकारी दी कि दोनों जज्बातियों के बीच पुलिस ने यह कहकर सुलह करवाई है कि रमेश चीन पर हमला करेगा और सुरेश पाकिस्तान पर।



ऐसी अन्य ख़बरें