Sunday, 18th November, 2018

चलते चलते

सिक्स पैक एब्स बना चुके युवक का बैग छीनकर भागे मरियल से दिखने वाले दो चोर

23, Aug 2018 By Ritesh Sinha

नोएडा. घंटों जिम में अपना खून-पसीना बहाकर रंजीत बागची ने ‘सिक्स-पैक-एब्स’ बनाया था, यह सोचकर कि कोई भी आँख दिखाने से पहले दस बार जरूर सोंचेगा। लेकिन उसे क्या पता था कि यही ‘सिक्स-पैक-एब्स’ ऐन मौके पर धोखा दे जाएँगे और दो मरियल से दिखने वाले चोर उसका बैग छीनकर फरार हो जाएँगे!

चोरों को भागते हुए देखता रंजीत
चोरों को भागते हुए देखता रंजीत

दरअसल, हुआ यूँ कि रंजीत कल शाम को अपना बैग पीठ पर लटकाए घर वापस आ रहा था, तभी रेलवे ब्रिज के पास सुनसान इलाके में दो चोर भागते हुए आए और रंजीत का बैग छीनकर भागने लगे। रंजीत भी उनके पीछे भागने लगा। भागते-भागते उसने अपना शर्ट भी खोल लिया और चिल्लाया “अबे! मेरा बैग वापस कर दे! देखता नहीं सिक्स-पैक-एब्स हैं मेरे! गलती से हाथ लग गया तो तबियत से कूटाई होगी!”

रंजीत की इस धमकी का चोरों पर कोई असर नहीं हुआ और ना ही उन लोगों ने पीछे मुड़कर देखा, उनका तो एक-सूत्रीय कार्यक्रम चल रहा था “सरदार खान की तरह भागना!”

आखिर में रंजीत थक गया और उसने उनका पीछा करना छोड़ दिया। उधर, मरियल से दिखने वाले चोर हवा को चीरते हुए आँखों से ओझल हो गए। रंजीत की साँस फूलने लगी और वह अपना मुँह लटकाए घर वापस आ गया। बाद में उसने फेकिंग न्यूज़ को बताया कि बैग में एक लैपटॉप, क्रेडिट कार्ड, चार्जर, कुछ पैसे और डाक्यूमेंट्स थे! चोर सब-कुछ समेटकर भाग गए।

अगली सुबह रंजीत जब सोकर उठा तो वो और ज्यादा गुस्से में था। उसने सोचा कि अगर सिक्स-पैक-एब्स का इतना भी फायदा नहीं है तो ये सब बदन फुलाने का क्या फायदा?

उसने अपनी बाइक उठाई और अपने जिम ट्रेनर के पास पहुँच गया। “तूने कहा था कि सिक्स-पैक-एब्स बना ले फायदा होगा! क्या ख़ाक फायदा हुआ? कल दो चोर मेरा बैग उठाकर भाग गए! ये तो तूने बताया ही नहीं था कि चोर प्रजाति के लोग हमसे भी तेज़ भाग सकते हैं! इतने पैसे क्यूँ लेता था तू हमसे?” -रंजीत ने जिम के मालिक को धक्का देते हुए कहा।

जिम के मालिक जगबीर सिंह को भी गुस्सा आ गया, उसने भी कह दिया “तुम्हारे जान-माल की जिम्मेदारी हमारी नहीं है! हम यहाँ सिर्फ प्रोटीन शेक पीलाकर एब्स बनवाते हैं, बाकि से हमें क्या लेना-देना!” -कहते हुए उसने रंजीत को जिम से बाहर फिंकवा दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें