Tuesday, 15th October, 2019

चलते चलते

पेप्सी-कोक वगैरह नहीं बेचता था पानवाला, नये ग्राहकों ने पानवाले को कूटा

19, Mar 2019 By Ritesh Sinha

कन्नौज. सूचना मिली है कि शिवपालगंज में कुछ युवकों ने एक पानवाले को सिर्फ इसलिए कूट दिया क्योंकि वो अपनी दूकान में पेप्सी-कोक वग़ैरह नहीं बेचता था। पानवाले का नाम पवन सैनी (BKA पवन खैनी) बताया जा रहा है, जो पिछले बीस सालों से चौंक पर पान बेचा करता था।उधर, आरोपी युवक घटना को अंजाम देकर फरार हो गए हैं।

Paan 5
चूना लगाते पवन भाई

घटना के चश्मदीद गवाह सुरेश ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “मैं भी कल पवन की दूकान पर बैठा था! तभी ठेले के पास एक कार आकर रूक गई और उसमें से एक अफसरनुमा ‘ड्राइवर’ और दो ड्राइवरनुमा ‘पत्रकार’ उतरे! वे सभी पवन भाई के ठेले पर आए और पेप्सी की चार बोतलें माँगने लगे!”

“पेप्सी का नाम सुनते ही पवन भाई के मुँह से निकल गया कि, “मैं पानवाला हूँ, पान बनाता हूँ, पेप्सी का ठेका नहीं लिया है मैंने!”

यह सुनकर वे लोग भी तैश में आ गए और कहने लगे, ‘तू इस देश का इकलौता पानवाला है जो गर्मियों में पेप्सी-कोकाकोला नहीं बेचता! आजकल तो पान से ज्यादा यही बिकता है, शर्म नहीं आती तूझे!”

यह बात पवन भाई को जरा भी पसंद नहीं आई और उसने अपना सरोता उठा लिया। लड़के भी जोश में आ गए और उन्होंने पवन को खर्चा पानी देना शुरू कर दिया!” -सुरेश ने आँखें चौड़ी करते हुए बताया।

“इस झड़प में चूने का डिब्बा, कत्थे में जाकर मिल गया और गुलकंद ने चमन-बहार के डिब्बे पर कब्ज़ा कर लिया! बांग्ला पान की टोकरी लापता हो गई है और मीठी चटनी का सुराग नहीं मिल रहा है! तबियत से कूट दिया भाईसाब उन्होंने उसे मेरी आँखों के सामने! बाद में उन लोगों को यह भी पता चल गया कि इसके दूकान में टीवी भी नहीं है क्रिकेट देखने के लिए! उन्होंने इस अपराध के लिए अलग से कूटा!” -सुरेश ने आगे बताया।

हालाँकि बाद में पवन ने अपनी गलती मान ली और वादा किया कि जल्द ही एक फ्रिज खरीदकर पेप्सी बेचना भी शुरू करूँगा, तब जाकर उन हमलावरों का गुस्सा शांत हुआ।



ऐसी अन्य ख़बरें