Monday, 17th June, 2019

चलते चलते

नये साल के पहले दिन ही युवक की फूटी किस्मत, सासु माँ और बॉस का फोन करना पड़ा रिसीव

01, Jan 2019 By Ritesh Sinha

भोपाल. नये साल का पहला दिन यानि 1 जनवरी, इस दिन सबकी इच्छा होती है कि साल की शुरुआत कम से कम अच्छी होनी चाहिए। इस दिन सुबह-सुबह कोई खुशखबरी मिल जाए या किसी अच्छे आदमी से मुलाक़ात हो जाए तो यह समझा जाता है कि साल की शुरुआत अच्छी हुई है तो आगे भी अच्छा ही होगा। लेकिन एरिया कॉलोनी में रहने वाले सुमीत अवस्थी के साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

Man-crying
नये साल में सुमीत का पहला दिन

आज जब वह सोकर उठा तो उसके सासु-माँ का फोन आ गया।हद तो तब हो गई जब दस बजे के आसपास बॉस का भी फोन आ गया। इस दोहरे झटके से सुमीत अब तक उबर नहीं पाया है।

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए उसने बताया कि, “फूटी किस्मत है मेरी भाईसाब! सुबह सात बजे ही सास का फोन आ गया और वाइफ ने फोन मुझे ही पकड़ा दिया! क्या करता? मज़बूरी में बात करनी पड़ी!”

उनके सवाल एक-एक किलोमीटर लंबे थे और मेरे जवाब चार-पाँच इंच से ज्यादा के नहीं थे! एक घंटे तक झेलवाया है भाईसाब! ये क्या तरीका हुआ नये साल की शुरुआत करने का! इससे अच्छा तो मैं कल अपने दोस्तों के साथ घूमने ही चला जाता!” -कहते हुए सुमीत का चेहरा उतर गया।

“थोड़ी देर बाद बॉस का भी फोन आ गया, उसने भी शुभकामनाएं देने के बाद दुनिया भर के सवाल किये! इस बार उल्टा था, बॉस के सवाल ‘इंच’ में होते थे और मेरे जवाब किलोमीटर में! क्या करूँ? नैकरी का सवाल है, पूरा-पूरा जवाब देना पड़ता है!”

“मैंने भी सोचा था कि सुबह-सुबह कोई खुशखबरी मिल जाए या कोई मिठाई वगैरह खाने को मिल जाए लेकिन मुझे क्या पता था कि ये सब हो जाएगा! जिनका फोन ना आए कह रहा था उन्हीं दोनों का फोन पहले आ गया, फूटी किस्मत है मेरी!” -सुमीत ने आगे बताया।



ऐसी अन्य ख़बरें