चलते चलते

'दारू की दुकान खोलने से कोरोना और फैल जाएगा!' -ऐसा कहने वाला युवक दो पैग मारने के बाद सब कुछ भूला

04, May 2020 By Ritesh Sinha

मुंबई. मोहित पारकर एक सोचने-समझने वाला बंदा है और समाज की भलाई के लिए सोशल मीडिया पर कई तरह के सुझाव देता रहता है। आज से तीन दिन पहले ही उसने कह दिया था कि ‘अगर दारू की दुकान अभी खोल दी गयी तो भगदड़ मच जाएगी, लोग एक-दूसरे पर टूट पड़ेंगे और कोरोना के मरीजों की संख्या और बढ़ जाएगी!’

wine-man
पूरी शीशी मारता मोहित

मोहित की ये भविष्यवाणी सच साबित हुई और शराब बिक्री शुरू होते ही ठेके पर लंबी-लंबी लाइनें देखने को मिल रही हैं। लोग सोशल डिस्टेंसिंग की ऐसी-तैसी करते हुए ‘बोतल’ पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं।

हालाँकि बड़ी-बड़ी बातें करने वाले मोहित को अब इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि दो पैग मारने के बाद वो खुद टुन्न होकर रस्ते पर पड़ा हुआ है। सूचना मिली है कि वो सुबह से ही लाइन में लग गया था, तीन घंटे तक धक्का-मुक्की सहने के बाद उसका नंबर आया और उसने एक हफ्ते का कोटा पूरा कर लिया।

नींबू चटाने तथा नाखूनों पर नेल-पोलिश लगाने के बाद होश में लाये गये मोहित ने हमसे विशेष बातचीत की है। अपने दोहरे रवैये के बारे में सफाई देते हुए उसने कहा कि, “देखिए, जब मैं होश में होता हूँ तो ‘दारू की दुकान नहीं खोलनी चाहिए’, ‘दारू पर बैन लगा देना चाहिए’ जैसी बातें करते रहता हूँ, हालाँकि दो पैग मारने के बाद मैं सब कुछ भूल जाता हूँ!

तीन दिन पहले मैं बिल्कुल सादा था इसलिए कह दिया था कि कोरोना को देखते हुए ‘ठेका’ नहीं खोलना चाहिए! पर अब जब खुल ही गया है तो मैं पीछे रहने वाला नहीं हूँ! इसलिए मैं अपना पुराना बयान वापस लेता हूँ भैया! अब तुम भी जाकर ठेके की लाइन में लगो और मुझे सोने दो!” -कहते हुए मोहित फ़्लैट हो गया।



ऐसी अन्य ख़बरें