Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

सिगरेट लेने के लिए प्रधानमंत्री का भेस धारण करके बाहर निकला युवक, पकड़े जाने पर पुलिस ने धोया

26, Mar 2020 By Guest Patrakar

रोहतक. कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने देश भर में ‘लॉकडाउन’ घोषित कर दिया है, केवल डॉक्टर, प्रेस, तथा आपातकालीन सुविधा देने वाले लोगों को घर से बाहर निकलने की छूट दी जा रही है। जाहिर है इससे आम लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

vivek-modi
मोदीजी के वेश में किशोर!

जो लोग सिगरेट और दारू के बिना रह नहीं पाते, उनका दर्द तो हिमालय से भी बड़ा और भारी हो गया है, बेचारे ना धुआँ उड़ा पा रहे हैं और ना ही महफ़िल जमा पा रहे हैं।

यही वजह है कि लोग अब घर से बाहर निकलने के लिए अजब-गजब तरकीबें अपना रहे हैं, ऐसा ही एक मामला रोहतक से सामने आया है, जहाँ किशोर नाम के युवक ने सिगरेट लेने की खातिर प्रधानमंत्री मोदी का भेस धारण कर लिया।

किशोर की किस्मत देखिए कि वो तीन चेक-पोस्ट पार भी कर चुका था, चौथे नंबर की चेक-पोस्ट पर उसका सामना कॉन्स्टेबल मुकेश दाहिया से हो गया, जिन्होंने उसे सौ मीटर की दूरी से आसानी से पहचान लिया। पकड़े जाने के बाद किशोर की विधिवत कुटाई की गई।

इस मुद्दे पर हमने कॉन्स्टेबल दाहिया से बात की, उन्होंने बताया कि, “लंच के बाद मैं जैसे ही ड्यूटी पर आया, मैंने देखा कि एक साहब दूर से चले आ रहे हैं, पहले तो मैं भी धोखा खा गया था कि ये मोदीजी यहाँ क्या कर रहे हैं? अगर ये रोहतक में हैं तो उधर आठ बजे वाला भाषण कौन देगा?

फिर मैंने सोचा कि ये तो साला बहुरुपिया है जो उनकी तरह भेस बनाकर हमें धोखा दे रहा है! मैंने उससे सख्ती से पूछताछ की तो पता चला कि ये तो सिगरेट लेने घर से निकला है और भानुप्रसाद की टपरी पर जा रहा है!

एक बार और कन्फर्म करने के लिए मैंने अपनी जेब से मोबाइल निकाला और उसकी फोटो खींचने लगा, मैंने देखा कि वो तो कैमरे की तरफ देख ही नहीं रहा है, जबकि मोदीजी ऐसा नहीं करते! मुझे पूरा विश्वास हो गया कि ये नकली है!

बाद में हमने उस बहुरूपिये की जमकर कुटाई की और वापस घर भेज दिया!” -कॉन्स्टेबल मुकेश ने आगे बताया। किशोर फ़िलहाल घर में कैद है और अपनी हड्डियों की सिकाई करवा रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें