Tuesday, 25th September, 2018

चलते चलते

नयी बेडशीट देखकर जबरदस्ती 'सुसु' कर देते हैं छोटे बच्चे, वैज्ञानिकों ने किया खुलासा

10, Sep 2018 By Ritesh Sinha

मुंबई. काम ना होने की वजह से खाली बैठे कुछ वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि छोटे बच्चे और नयी बेडशीट के बीच की दुश्मनी अभी सौ साल और चलेगी और बच्चे बेडशीट पर सुसु करते रहेंगे। इन वैज्ञानिकों का कहना है कि नयी बेडशीट देखकर बच्चे जानबूझकर ‘सुसु’ कर देते हैं क्योंकि उनके बीच सब कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। उन्हें सब मालूम होता है कि वे क्या कर रहे हैं। इसके अलावा जो उन्हें देखकर तुतलाना शुरू कर देते हैं उन्हें भी ये बच्चे पसंद नहीं करते और अक्सर उनके पास जाने पर सुसु कांड को अंजाम दे देते हैं।

kid
सुसु कांड को अंजाम देकर मुस्कुराता एक आरोपी

इस रिसर्च में मुख्य भूमिका निभाने वाले वैज्ञानिक जोगिंदर खुराना ने बताया कि “पहले ऐसा माना जाता था कि छोटे बच्चों को कुछ पता नहीं होता इसलिए वो कहीं पर भी ‘सुसु’ कर देते हैं, लेकिन ये सरासर झूठ है! हमारी रिसर्च में खुलासा हुआ है कि इन दोनों के बीच पुरानी दुश्मनी है।

बच्चे जैसे ही नयी बेडशीट या साफ़-सुथरा सोफा देखते हैं तो उनके निचले हिस्से में गुदगुदी होने लगती है! उनका मन करता है कि  ‘चलो! इसको गंदा किया जाए!’ बस, इसी अभियान के तहत वो अक्सर नयी बेडशीट पर ‘सुसु’ कर देते हैं!”

वैज्ञानिकों की इस ताज़ा रिसर्च पर हमने कुछ आम लोगों से भी बात की। सर्विसेस कॉलोनी में रहने वाली नीलम खोटे ने बताया कि “अभी पिछले दिनों ही दूर के फूफा जी अपने बच्चों के साथ हमारे घर आए थे! उनमे से एक छोरा तीन साल का हो गया था फिर भी उसने बेड पर ‘सुसु’ कर दिया! मुझे बहुत गुस्सा आया, उसी दिन नया बेडशीट बदला था मैंने!” -कहते हुए खोटे मैडम लाल हो गईं।

“मेहमानों के सामने तो मैंने कह दिया कि ‘कोई बात नहीं छोटा बच्चा है!’ लेकिन मन ही मन मैंने कहा कि ‘खंभे की तरह बढ़ता जा रहा है, आज भी सुसु बताना नहीं आया! कुरकुरे खाने के अलावा कुछ नहीं आता तुझे!”



ऐसी अन्य ख़बरें