Saturday, 22nd September, 2018

चलते चलते

कानपुर में भी बनेगी NRC लिस्ट, जिसके मुँह में गुटखा नहीं मिलेगा उसे कर दिया जाएगा देश से बाहर

01, Aug 2018 By Ritesh Sinha

कानपुर. असम के बाद कानपुर को भी अपना NRC मिलने वाला है, यानि फर्जी ‘कानपुरियों’ की अब खैर नहीं है। दरअसल, कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री योगी के मोबाइल पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया था। जैसे ही योगी जी ने फोन उठाया उधर से आवाज आई कि “महाराज! शहर में कई फर्जी ‘कानपुरिये’ घुस आए हैं, जो देखने में तो कानपुरिया जैसे ही लगते हैं, लेकिन वे लोग यहाँ की संस्कृति का कोई सम्मान नहीं करते।

pan masala-gutkha
कानपुर में रहना है तो गुटखा चबाना पड़ेगा!

ये ‘फर्जी’ लोग गुटखा देखकर दूर हट जाते हैं और नाक-भौं सिकोड़ने लगते हैं! यहाँ तक कि कानपुरिया कल्चर की खुलेआम निंदा भी करते हैं! खुद तो ना खैनी खाते हैं, ना बीड़ी सुलगाते हैं। यानि नशे के नाम पर कुछ भी नहीं! देख लीजिए! ये सब हो रहा है आपके राज में!” -उधर से आवाज आई।

जैसे ही योगी ने उस बंदे की बात सुनी, उनका खून खौलने लगा। उन्होंने तुरंत प्रदेश में NRC लाने का आदेश जारी कर दिया। इसका मतलब यह हुआ कि अब कानपुर के हर निवासी की गहन जाँच की जाएगी, जिनके भी मुंह में गुटखा नहीं पाया गया उन्हें देश-निकाला दे दिया जाएगा!

यूपी सरकार के मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पाण्डेय ने बताया कि “देखिए! कुछ ‘सादा’ लोगों को बिना गुटखा मुँह में दबाए शहर में टहलते हुए देखा गया है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता! जो लोग कानपुर में रहना चाहते हैं उन्हें यहाँ के हिसाब से अपने आप को ढालना ही होगा! और जो ऐसा नहीं कर सकते उन्हें यहाँ रहने का कोई हक नहीं है! इसीलिए तो सरकार ने NRC लाने का फैसला किया है!”

“कल से हमारे अफसर एक-एक आदमी का मुँह चेक करेंगे, अगर कोई ‘सादा’ नज़र आया तो उसका बोरिया-बिस्तर बाँध दिया जाएगा!” -पांडे जी ने आगे बताया।

“लेकिन वे लोग कहाँ जाएंगे?” -ऐसा पूछे जाने पर उन्होंने उत्तर दिया कि “वो हमारा टेंशन नहीं है! होनोलुलु जाएँ या जमैका.. I Don’t Care!.

उधर, हरयाणा सरकार ने भी गुरुग्राम में ‘NRC’ लाने का एलान किया है, जो कहती है कि जिनके घर भी ‘देसी-कट्टा’ नहीं पाया गया, उन्हें गुरुग्राम से उठाकर बाहर फ़ेंक दिया जाएगा।



ऐसी अन्य ख़बरें