चलते चलते

मैं तो पहले से 'आत्मनिर्भर' हूँ, पैर से ही स्कूटी रोक देती हूँ: 23 वर्षीय युवती नेहा ने किया दावा

14, May 2020 By Ritesh Sinha

भोपाल. अपने लेटेस्ट भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से अपील की थी कि अब ‘आत्मनिर्भर’ बनने का समय आ गया है। उन्होंने PPE किट का हवाला देते हुए कहा था कि अगर हम ठान लें तो हर सामान अपने ही देश में बनाकर ‘आत्मनिर्भर’ बन सकते हैं।

scooty
अपनी स्कूटी के साथ नेहा

मोदीजी की इस अपील का गहरा असर भी हुआ है, लेकिन एरिया कॉलोनी में रहने वाली नेहा जैन को ये आईडिया जरा भी पसंद नहीं आया है, उनका कहना है कि वो पहले से ‘आत्मनिर्भर’ हैं।

तेईस वर्षीय नेहा ने फ़ेकिंग न्यूज से बात करते हुए अपना विरोध दर्ज किया कि, “लूक, मे’को लगता है कि मोदीजी को ग्राउंड पे क्या हो रहा है कुछ पता नहीं है, हम लोग पहले से ‘आत्मनिर्भर’ हैं ड्यूड! मैं पिछले चार साल से स्कूटी चला रही हूँ लेकिन आज तक स्कूटी रोकने के लिए ‘ब्रेक’ के सामने हाथ नहीं फैलाया, सीधे पैरों से ही रोक देती हूँ! ये आत्मनिर्भरता नहीं तो और क्या है?

इनफैक्ट, आत्मनिर्भरता को तो मैं एक अलग ही लेवल पर ले गयी हूँ, मेरी फ्रेंड शालिनी भी यही करती है, पूजा भी और अनन्या भी! इतना लंबा भाषण दिया तो जो लोग पहले से आत्मनिर्भर हैं उनका धन्यवाद ही कर देते मोदीजी!” -नेहा ने दाँत से नाखून चबाते हुए कहा।

हाँ, जब से लॉकडाउन लगा है मैंने स्कूटी नहीं चलाई है लेकिन जब भी चलाऊंगी, आत्मनिर्भर बनकर पैर से ही रोकूंगी! एक बात बोलूँ, मे’को लगता है कि मोदीजी काफी पीछे चल रहे हैं!” -नेहा ने अपनी बात पूरी की।



ऐसी अन्य ख़बरें