Sunday, 18th November, 2018

चलते चलते

"कभी लड़की को दिखाना पड़ गया तो?"-यही सोचकर Jockey का अंडरवियर ख़रीदते हैं आधे लड़के: सर्वे

03, Aug 2018 By बगुला भगत

एजेंसी. अंडर-गारमेंट्स के मशहूर ब्राँड Jockey की बिक्री के बारे में एक सनसनीख़ेज़ ख़ुलासा हुआ है। एक हालिया सर्वे में पता चला है कि भारत में Jockey के आधे से ज़्यादा अंडरवियर इस चक्कर में ख़रीदे जाते हैं कि कहीं किसी दिन लड़की को दिखाना पड़ गया तो?

Guy-in-underwear
Jockey पहनकर इसी मौक़े की ताक में रहते हैं युवा

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज (TISS) के एक सर्वे में यह चौंकाने वाली सच्चाई सामने आयी है। सर्वे टीम के हेड प्रो. कुणाल गंजीवाला ने फ़ेकिंग न्यूज़ को एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बताया कि “प्राचीन काल से ही नर, मादा को अपनी तरफ़ आकर्षित करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे आज़माते आये हैं। कच्छा भी उन्हीं में से एक है।”

“भारत तो वैसे भी मितव्ययी लोगों का देश है। इसके बावजूद भी अगर लड़के 50 रुपये के ‘रूपा फ्रंटलाइन’ के बजाय 200-250 का Jockey ख़रीदते हैं तो उसके पीछे मंशा यही होती है कि अगर क़िस्मत से कहीं लड़की के सामने कपड़े-वपड़े उतारने का सीन बन गया और उस टाइम अपुन के पास रूपा फ्रंटलाइन निकल गया तो GLPD…यानि ‘गुड लक पे धोख़ा’ हो सकता है!”

“बस यही है बिक्री की असली वजह!” -गंजीवाला ने पेंट नीचे सरका कर हमारे रिपोर्टर को अपना कच्छा दिखाते हुए कहा और फिर पेंट वापस ऊपर करते हुए बोले, “हालांकि लड़का लोग अलमारी में एक-आध रूपा या डॉलर भी रखते हैं, पर वो घर पे पहनने के लिए होता है। ऑफ़िस और पिकनिक वगैरह के लिए Jockey ही होता है।”



ऐसी अन्य ख़बरें