Friday, 22nd March, 2019

चलते चलते

लापरवाही की भी हद होती है, युवक ने 'History' डिलीट किए बिना ही फोन अपने पापा को दिया

15, Oct 2018 By Ritesh Sinha

भोपाल. जैसे-जैसे सुविधाएँ बढ़ रही हैं लोग और भी लापरवाह होते जा रहे हैं। अब आप अजय अग्रवाल को ही ले लीजिए, जिसने लापरवाही की सारी हदें पार कर दी। अजय ने ब्राउज़िंग ‘History’ साफ़ किए बिना ही अपना फोन, अपने पिताजी को थमा दिया, जाहिर है वह मुफ्त में पकड़ा गया। ब्राउज़र की हिस्ट्री देखकर मि. अग्रवाल दंग रह गए और उन्होंने अजय को जमकर खरी-खोटी भी सुनाई।

dad-beating-son
अजय को कूटते मि. अग्रवाल

दरअसल, मि. अग्रवाल के मोबाइल में बैलेंस नहीं था तो उसने अजय से कहा कि “अपना मोबाइल दे तो मुझे, गैस सिलेंडर वाले को फ़ोन लगाना है, मेरे में बैलेंस नहीं है!”

जैसे ही मि.अग्रवाल ने सिलेंडर का नाम लिया, अजय भावुक हो गया। “ये तो घर के चूल्हे से जुड़ा मुद्दा है! देरी हुई तो सब भूखे मर जाएँगे!” -ऐसा सोचकर उसने तुरंत अपना मोबाइल अपने पापा को दे दिया। उसे ब्राउज़िंग History का ख्याल ही नहीं आया।

बस, यह छोटी सी गलती उसे भारी पड़ गई और मि. अग्रवाल ने ‘क्रोम’ खोलकर सारा ‘इतिहास’ चेक कर लिया। घटनास्थल का गहराई से निरीक्षण करने के बाद मि. अग्रवाल ने अपने बेटे को जमकर फटकार लगाई और सुधरने की नसीहत भी दी।

इस घटना पर रोशनी डालते हुए मनोचिकित्सक डॉ. मनन वोहरा ने बताया कि, “इससे पता चलता है कि समाज में कितनी गिरावट आ गई है! हमारी याद रखने की क्षमता धीरे-धीरे नष्ट हो रही है! यदि अजय मेरे पास इलाज के लिए आता है तो मैं उसका इलाज 30% कम कीमत पर कर दूँगा! इलाज के बाद वो कभी भी History डिलीट करना नहीं भूलेगा!” उधर, समाज के सभी जागरूक तबकों ने अजय के इस लापरवाही की घोर निंदा की है।

बाद में जब हमने अजय से पूछा कि ‘ऐसा क्या देख लिया था आपके पापा ने, जो इतना भड़क गए?’ तो उसने बताया कि ‘पता नहीं उन्होंने ऐसा क्या देख लिया? वरना मैं तो नवभारत टाइम्स के फोटो’ज या आर्टिकल वगैरह ही देखता रहता हूँ! लगता है, काम ना मिलने से परेशान किसी एक्ट्रेस की लीक्ड फोटोज देख ली उन्होंने! इसमें मेरी क्या गलती है, मैं तो न्यूज़ देखने उस साइट पे जाता हूँ!”



ऐसी अन्य ख़बरें