Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

सपने में बीवी के स्वर्ग पहुँचने की खबर मिलने पर पति ने किसी भी कीमत पर स्वर्ग नहीं जाने के लिए तपस्या शुरू की

29, Nov 2019 By चीखता सन्नाटा

धौलपुर. रविवार की रात मच्छरों के साथ सोते हुए बुधिया ने एक भयानक सपना देखा, उन्होंने देखा कि उसकी स्वर्गवासी पत्नी स्वर्ग पहुँच गयी है और वहाँ मजे कर रही है। बुधिया को इस सपने से ऐसा झटका लगा कि उसकी आँख खुल गई। इस घटना के बाद बुधिया स्वर्ग जाना ही नहीं चाहता, कहता है कि नरक ही ठीक है, यही वजह है कि वो घोर तपस्या करने के बारे में विचार कर रहा है।

old-man
स्वप्न देखता बुधिया

बुधिया की पत्नी धन्नो देवी का कुछ ही महीनों पहले देहांत हुआ था। बुधिया उसके बाद से कितना खुश रहता था यह बताने की आवश्यकता नहीं है। बुधिया के बड़े भाई सतबीर ने अपनी बहती नाक को पोंछते हुए बताया कि, “जब से धन्नो ने बुधिया के सपने में आकर बताया है कि वो स्वर्ग सही-सलामत पहुँच गयी है और वहाँ आराम से है तब से वो अपना मानसिक संतुलन खो बैठा है!”

दिन भट अंट-शंट बड़बड़ाता रहता है, ‘मर जाऊँगा पर स्वर्ग नहीं जाऊँगा, थोक के भाव पाप करूँगा’ कहता रहता है! अब उसे सांसारिक मोह-माया से विरक्ति हो गयी है और वो सबकुछ छोड़-छाड़कर नरक जाने की कठोर तपस्या प्रारंभ कर रहा है!” -सतबीर ने आगे बताया।

बुधिया के पड़ोसियों ने बताया कि सपने के बाद से बुधिया के व्यवहार में आमूल-चूल परिवर्तन हुआ। बुधिया ने मोहल्ले के दिग्गज नेता छुट्टन भैया का कच्छा चुराकर उन्हें सीधे चुनौती दे दी। छुट्टन भैया की दिल खोल कर कुटाई करने के बाद उन्होंने उनके मासूम चंगु-मंगुओं को भी धुन डाला। उनके पास रखा सारा चखना बिना दारू के सरेआम खा गया, ये कहते हुए कि पाप करूँगा तभी तो ‘नरक’ नसीब होगा।

बुधिया यहीं नहीं रुका। उसने देशी शराब के ठेके पर जाकर मंथली पास बनवाया और वहीं बैठकर वहाँ आने-जाने वाले लोगों से हाथापाई और गाली-गलौज भी करता है। इसके बाद से गाँव के सभी वरिष्ठ और अनुभवी दारूबाजों में डर का माहौल है। सभी ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

“कुछ दिन पहले बुधिया मेरे पास आकर ‘गरुड़ पुराण’ पढ़कर गया था! नरक में जाने के इतने तरीके जानकर उसकी बांछें खिल गयी थीं! जिस स्वर्ग में जाने के लिए संसार लालायित रहता है, बुधिया जैसे महापुरुष उसे छोड़कर नरक में जाने के लिए तपस्या कर रहे हैं! दूसरों की बीवियों से सभी प्यार करते हैं पर अपनी पत्नी से इतना प्यार करते मैंने पहले कभी किसी को नहीं देखा!” -मोहल्ले के पंडित ने बताया।

खबर फैलते ही बुधिया के दर्शन के लिए इच्छुक लोगों के आने का ताँता लगा हुआ है किंतु कुछ ही ऐसे भाग्यशाली हैं जिन्हें बुधिया के हाथों ठुकने और लुटने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।



ऐसी अन्य ख़बरें