Thursday, 18th July, 2019

चलते चलते

चुनाव शुरू होते ही जन्म लेने वाला 'बच्चा' पाँचवे चरण का मतदान आते-आते बोलना सीखा

06, May 2019 By Ritesh Sinha

भोपाल. शर्मा फैमिली का इकलौता चिराग ‘चिंटू’ शर्मा अपने मोहल्ले में ‘बड़बोला’ चिंटू के नाम से मशहूर हो गया है। इतनी छोटी सी उम्र में भी वो इतना बोलता है कि सिद्धू और आकाश चोपड़ा भी शरमा जाएँ। लोग दाँतों तले उँगलियाँ दबाने को मज़बूर हैं कि आखिर ये कैसे हो गया? क्योंकि चिंटू का जन्म उसी दिन हुआ था जिस दिन देश में लोकसभा चुनावों का ऐलान हुआ था। इस बार चुनाव इतने लंबे हो गए हैं कि पाँचवें चरण आते-आते ही यह छोटा बच्चा बोलना सीख गया।

तेज़ी से बड़ा हो गया चिंटू
तेज़ी से बड़ा हो गया चिंटू

चिंटू के पापा, सुमीत शर्मा ने बताया कि, “सच में चुनाव बहुत लंबा खींच गया है यार! सबका इंटरेस्ट कम हो गया है, अब तो नेता लोग भी उल-जलूल बोले जा रहे हैं! सब इसी का नतीजा है!”

अपना चिंटू को ही ले लीजिये, दस मार्च को ये पैदा हुआ था और आज मम्मी-पापा, मौछी, दादा-दादी सब बोलना सीख गया है! फिर भी वोटिंग ख़त्म नहीं हुई है! मुझे तो लगता है कि मेरा बेटा A B C D बोलना भी सीख जाएगा फिर भी वोटिंग चलते रहेंगे!” -सुमीत ने माथे से पसीना पोछते हुए कहा।

उधर, कुछ डॉक्टर्स चिंटू को ‘सुपरचाइल्ड’ घोषित करने की फिराक में लामबंद हो रहे थे, लेकिन पॉलिटिक्स पर नज़र रखने वाले पंडितों ने इसका जमकर विरोध कर दिया। उनका कहना था कि, “चिंटू बोलना सीख गया, इसमें कुछ भी चमत्कार वाली बात नहीं है! अगर इतने लंबे-लंबे चुनाव होते रहे तो कोई भी साधारण बच्चा बोलना सीख सकता है!”



ऐसी अन्य ख़बरें