Saturday, 20th July, 2019

चलते चलते

क्रश के मुँह से "मुझे डॉग्स पसंद है!" ऐसा सुनकर युवक ले रहा था बीस कुत्तों के साथ सेल्फी, एक ने काटा

26, Nov 2018 By Ritesh Sinha

भोपाल. आशीष राज (24) शहर का एक होनहार नौजवान है जो मित्तल कॉलेज में सिविल इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहा है। उसके क्रश का नाम ‘हिमांशी’ है, जिनसे वो आज तक बात नहीं कर पाया है, क्योंकि आशीष का मानना है कि पहला कदम बढ़ाने से पहले माहौल बना लेना चाहिए। इसी बीच उसे पता चला कि हिमांशी को छोटे-छोटे और क्यूट से दिखने वाले कुत्ते बहुत पसंद हैं, उसे हिमांशी को इम्प्रैस करने का अच्छा मौका मिल गया।

 कुत्तों dogs
घटना से थोड़ी देर पहले की तस्वीर

दूसरे दिन ही उसने अपने मोहल्ले के सारे पालतू कुत्ते अपने घर के पास जमा कर लिए और सेल्फी लेने की कोशिश करने लगा। उसका प्लान था कि दस-बीस अच्छे फोटो खींचकर, उन फोटोज को हिमांशी को सेंड करूँगा, फिर वो बहुत खुश हो जाएगी। हो सकता है कुत्तों के बारे में सोचते-सोचते दो-तीन मिनट मेरे बारे में भी सोचने लग जाए।

इसी धुन पर सवार आशीष धड़ाधड़ सेल्फी ले रहा था, लगभग बीस कुत्ते उसने इकट्ठे कर रखे थे। इसी बीच उसे आईडिया आया कि एक पोज डॉगी के गले पर अपना सर रखकर भी होना चाहिए, जैसा अक्सर लोग प्यार जताने के लिए करते रहते हैं।

बस, यही बात उन कुत्तों को जरा भी पसंद नहीं आई और सेल्फी लेते वक़्त ‘मैक्स’ नाम के एक कुत्ते ने आशीष को काट लिया। वो घबरा गयाऔर काँपने लगा। उसने हिमांशी को इम्प्रैस करने का प्लान कैंसल कर दिया और अपना सारा ध्यान ‘रेबीज’ पर फोकस कर दिया। सभी कुत्तों को उनके मालिकों के पास छोड़ने के बाद वह सीधे अस्पताल की ओर कूच कर गया। डॉक्टर ने तुरंत उसे एक टीका लगाया और तीन दिन बाद फिर से आने को कहा।

“मैं गली में चल रहा था, वो साला मेरी तरफ ही दौड़ गया और मुझे जबरदस्ती काट लिया!” -आशीष ने डॉक्टर साब को झूठ-मूट का बताया।

उधर, हिमांशी को भी आशीष के ताज़ा हालात की जानकारी दे दी गई है। लेकिन वो आशीष को कुत्ते ने काट दिया, इस बात से हैरान नहीं है, बल्कि इस बात से हैरान है कि ये खबर किसने फैलाई कि मुझे डॉग्स वगैरह पसंद हैं। “मैं तो बहुत डरती हूँ रे बाबा! चाहे कितना ही क्यूट हो, मैं रिस्क नहीं लेती!” -हिमांशी ने खुलासा किया।



ऐसी अन्य ख़बरें