Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

'कोई अज्ञात वस्तु ना छुएँ वह राखी भी हो सकती है!' -मजनू संघ ने जारी की चेतावनी

26, Aug 2018 By Fake Bank Officer

लखनऊ. रक्षाबंधन के पावन पर्व की जहाँ सभी भाई-बहन प्रतीक्षा करते हैं वहीँ कुछ आशिकों के लिए यह दिन किसी आपदा से कम नही होता। सच्चे आशिकों के ऐसे ही एक गैर सरकारी संगठन ‘मजनू संघ’ ने अपने सदस्यों के लिए क्या करें और क्या ना करें की एक सूची तैयार की है। साथ ही संगठन ने जनहित में चेतावनी जारी कर कहा है कि इस दिन किसी भी अज्ञात या लावारिस वस्तु को हाथ न लगाएँ  क्योंकि वह चीज़ राखी भी हो सकती है।

मजनू दल के लिए खौफनाक दृश्य!
मजनू दल के लिए खौफनाक दृश्य!

जगह-जगह पोस्टर लगा रहे संघ के एक कार्यकर्ता प्रेम खुराना ने फ़ेकिंग न्यूज को बताया कि इस तरह की चेतावनी जारी करने की ज़रूरत इसलिए पड़ी क्योंकि पहले हमारे कई मजनू भाई अपनी अज्ञानता के चलते बहुत सारी लड़कियों के भाई बन चुके हैं।

“आज भी वो भयानक मंज़र याद करके हमारी रूह कांप जाती है, जब हमारे ही एक साथी ने रक्षाबंधन पर रास्ते मे पड़ा एक दस रुपये का नोट उठा लिया था, जो असल मे किसी शरारती बहन द्वारा छोड़ी हुई राखी थी। पलक झपकते ही मोहल्ले की सारी लड़कियों ने उनको घेर लिया और हाथ पैर, मुंह सब जगह राखियां बांध दी। आज भी वो पूरे मोहल्ले में जगत भैया के नाम से कुख्यात है!” -बताते-बताते प्रेम भाई का चेहरा पीला पड़ गया।

मजनू संघ के अन्य कार्यकर्ताओं से बात करके हमारे रिपोर्टर को ऐसे ही दूसरे किस्सों का पता चला जब एक भोले-भाले आशिक को जबरन ‘भैया’ बना दिया गया था। संघ के अस्थायी सचिव, रसिकनाथ छलिया जी ने बताया कि “एक ज़माने में मिथुन और धर्मेंद्र भी संघ के जुझारू  कार्यकर्ता हुआ करते थे, लेकिन कुछ  दशकों से उनका मार्गदर्शन हमारे युवा सदस्यों को नही मिल पा रहा है, इसलिए वे राखी के जाल में आसानी से फँस  जाते हैं! हमने तो सबको समझा दिया है कि सावधानी हटी दुर्घटना घटी! अगर सावधान नही रह सकते तो रक्षाबंधन पर घर से बाहर ही मत निकलो!”



ऐसी अन्य ख़बरें