Thursday, 27th February, 2020

चलते चलते

'शराबबंदी' चेक करने स्वर्ग से गुजरात पहुँचे बापू, उतरते ही पड़ा बीयर की बोतल पर पैर

23, Jan 2020 By बगुला भगत

गाँधीनगर. कल रात अचानक बापू के मन में अपने गृह प्रदेश गुजरात में 60 साल से लागू शराबंदी को चेक करने का ख़्याल आया। बापू ने सोचा कि चलकर देखूँ तो सही कि शराब बैन होने के बाद मेरे राज्य के लोग कितने सुधर गये हैं। यह सोचकर उन्होंने रात 12 बजे के आसपास स्वर्ग से प्रस्थान किया और गाँधीनगर के पास लैंड किया। लेकिन लैंड करते ही भयँकर काँड हो गया!

Bapu-liquor-ban
गुजरात की शराबबंदी पर बापू का रिएक्शन

जैसे ही बापू ने लैंड किया तो उनका पैर बीयर की टूटी हुई बोतल पर पड़ गया और उनके मुँह से निकला “हे राम!” बापू के कराहने की आवाज़ सुनकर एक लड़का (जो कहीं ‘माल’ सप्लाई करके आ रहा था) दौड़कर आया, तो बापू ने टूटी बॉटल की तरफ़ इशारा करते हुए उससे पूछा- “ये क्या है बेटा?”

लड़के ने हाथ खड़े करते हुए कहा “ये मेरा माल नहीं है वडील! ये परेशभाई ने सप्लाई किया होगा, दमन का माल वो ही लाता है। आप मुझको बोलो, चंडीगढ़ का माल ला के दूँगा…एकदम मस्त!” यह सुनते ही बापू नाराज़ हो गये और बोले, “ये सब क्या बोल रहे हो, मैं सत्याग्रह करुँगा इसके ख़िलाफ़!”

“ज़्यादा चिल्ला-चिल्ली करोगे तो उठा के जेल में डाल देंगे आपको क्योंकि कमीशन नीचे से ऊपर तक सबको जाता है!”, वो ये कह ही रहा था कि तभी उसका मोबाइल बज उठा और वो “ला रहा हूँ दो मिनट में!” कहता हुआ बाइक उठाकर भाग गया और बापू वहाँ से सीधे चीफ़ मिनिस्टर रूपाणी के पास पहुँचे।

पहुँचते ही उन्होंने सारा क़िस्सा कह सुनाया और पूछा, “ये सब चल क्या रहा है मेरे गुजरात में?” तो रूपाणी समझाते हुए बोले- “ट्राई टू अंडरस्टैंड बापू! ये सब हम आपका नाम रोशन करने के लिए ही कर रहे हैं।” तो बापू ने हैरानी से पूछा, “मेरा नाम?”

इस पर रूपाणी ने जेब से 2000 का नोट निकालकर दिखाते हुए कहा, “देखो बापू, जब एक बंदा दूसरे से ‘माल’ ख़रीदता है तो उसे ऐसा नोट देता है, जिस पे आपकी फ़ोटो होती है! तो एक तरह से हम आपके नाम का ही प्रचार-प्रसार कर रहे हैं।” यह सुनते ही बापू ने हाथ जोड़ लिये और ‘राम राम’ करते हुए वहाँ से चुपचाप खिसक लिए।



ऐसी अन्य ख़बरें