Tuesday, 18th September, 2018

चलते चलते

बारिश का बहाना बनाकर ऑफ़िस देर से पहुँचने वालों के लिए मुसीबत, मौसम विभाग देगा सभी बॉस को सूचना

18, Jun 2018 By Guest Patrakar

एजेंसी. अगर आप इस मॉनसून में ऑफ़िस देर से पहुँचने के लिए बारिश का झूठा बहाना बनाने की सोच रहे हैं, तो सावधान हो जाइए क्योंकि मौसम विभाग और बड़ी-बड़ी कम्पनियों ने इस बहाने पर  पानी फेरने का पूरा बंदोबस्त कर लिया है। जी हाँ! मौसम विभाग की नई तकनीक से अब आपके बॉस आपकी लोकेशन के साथ-साथ वहाँ के मौसम का सटीक हाल भी जान पाएँगे। यह ख़बर सुनकर नौकरीपेशा लोगों की तो जैसे शामत ही आ गयी है और सीनियर्स की तो जैसे लॉटरी लग गयी है।

employee
ऑफिस ना जाने के लिए नया बहाना सोचता अशोक

हमने इस बारे में मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर पीके लूजी से बात की। पीके जी ने बताया कि “इस अविष्कार पर पिछले कई सालों से काम चल रहा था मगर यह तकनीक अब जाकर डेवलप हो पाई है! सबसे पहले हमने मेट मीटर को GPS से जोड़ा, फिर उसमें मोबाइल फ़ोन को जोड़ दिया! ऐसा करने के बाद एम्प्लॉई की सटीक लोकेशन के साथ-साथ वहाँ का सही मौसम भी पता चल जाएगा!”

“देखिए! हमारे देश में सबसे ज़्यादा कामचोर लोग प्राइवेट सेक्टर में पाए जाते है, बारिश के मौसम में लोग शॉवर ऑन करके बॉस से कह रहे होते हैं कि ‘सर, लेट हो जाऊँगा, बारिश हो रही है!’ और फिर मज़े से घर पर चाय और पकौड़ों का आनंद लेते हैं! हमारे ऑफ़िस के ही एक शख़्स ने तो हद ही पार कर दी! साले ने आइसक्रीम के फ़्रिज में बैठकर वीडियो कॉल किया और बोला कि ‘सर यहाँ गोरेगाँव में बर्फ़ पड़ रही है, आज नहीं आ पाऊँगा!’ बस उसी दिन मैंने ठान लिया कि इनका तो कुछ करना ही पड़ेगा और नतीजा आपके सामने है!” -एक मशीन की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा।

बताया जा रहा है कि इस तकनीक का रिमोट सभी कंपनियों के सीनियर मैनजर्स और बॉसेज़ के पास रहेगा ताकि वो जब चाहें, तब अपने कर्मचारियों का झूठ पकड़ सकें। और अगर सूत्रों की मानें तो इन सीनियर बॉसेज़ के फ़ोन का रिमोट उनकी पत्नियों के पास रहेगा, ताकि वो भी जब चाहें उनका झूठ पकड़ सकें।

इस तकनीक की घोषणा के बाद सभी कर्मचारियों के मन में ख़ौफ़ समा गया है। ऐसे ही एक कर्मचारी अशोक सिंघल से हमारी बात हुई, जो टाटा मोटर्स में काम करते हैं। अशोक ने सहमते हुए कहा, “हम पे इस लेवल की निगरानी रखी जा रही है और उधर नीरव मोदी जैसे लोग हज़ारों करोड़ लेकर चंपत हो जाते हैं! ये बॉस लोग नहीं जानते कि एक एम्प्लॉयी मानसून का कितनी बेसब्री से इंतज़ार करता है, ताकि वो मज़े से घर पर बैठकर बारिश का आनंद ले सके लेकिन इन्होंने तो हमसे वो हक़ भी छीन लिया! मैं इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तक जाऊँगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें