Friday, 26th April, 2019

चलते चलते

चाय को भला-बुरा कहने पर होगी छः महीने की सज़ा, सरकार लेकर आएगी प्रावधान

05, Feb 2019 By Guest Patrakar

 नयी दिल्ली. मोदी सरकार आखिरी के ओवर्स में ज़बरदस्त बल्लेबाज़ी करती हुई नज़र आ रही है। एक के बाद एक सरकार मिडल क्लास को लुभाने वाले निर्णय ले रही है। इसी कड़ी में सरकार ने चाय प्रेमियों को भी लुभाने का प्लान बना लिया है, जो एक बहुत बड़ा वोट बैंक है।

tea
जीवन का आधार

केंद्रीय मंत्री विशु भाई पटेल ने महाराष्ट्र में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा “चाय के प्रति हमारा प्यार किसी से छुपा नहीं है, हम सब जानते हैं कि एक बार ‘जल’ बिना जीवन चल सकता है लेकिन ‘चाय’ बिना तो इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती!”

ऐसे में अगर कोई इस दिव्या पेय पदार्थ को लेकर कुछ बुरा-भला  बोल दे तो हमसे यह सहन नहीं होता, इसलिए हमारी सरकार यह प्रावधान लाएगी कि अगर किसी ने खुलेआम चाय के खिलाफ कुछ बोला तो उसे कम से कम छः महीने की सज़ा या दो लाख रुपए जुर्माना या फिर दोनो हो सकता है!”

इस बड़े फ़ैसले के बाद चाय प्रेमियों के लिए तो जैसे दिवाली आ गई है। हमने ऐसे ही एक युवा चाय-प्रेमी अंकित से बात की, उसने बताया कि “चाय बिना जिंदगी फीकी है, सुबह की ताज़ी वाली हो या फिर रात की थकान भगाने वाली, चाय का मज़ा कभी भी लिया जा सकता है!”

“लेकिन कुछ लोग इसकी तथ्यहीन आलोचना करते हुए हमारा दिल तोड़ते रहते हैं, इससे हमारी भावनाएँ आहत होती हैं भाईसाब! अब सरकार ने इस ओर ध्यान दिया है तो अच्छी बात है, हमारे लिए यह निर्णय मलहम का काम करेगी!”

सरकार यह प्रस्ताव संसद में बुधवार को रखेगी, अब देखना यह है कि क्या वह इस बिल को दोनों सदन में पास करा पाती है या नहीं?



ऐसी अन्य ख़बरें