Thursday, 25th April, 2019

चलते चलते

नये साल पर युवक ने व्हॉट्सएप पर भेजे 870 मैसेज लेकिन बदले में मिले सिर्फ़ सत्तर! मोदीजी को लिखी चिट्ठी

12, Jan 2019 By बगुला भगत

नोएडा. बड़े-बूढ़े सही कहते हैं कि आजकल भलाई का तो ज़माना ही नहीं रहा! नोएडा के एक युवक ने नये साल पर व्हॉट्सएप पर लोगों को 870 मैसेज भेजे लेकिन बदले में उसे सिर्फ़ 70 ही मिले! इस बात से दुखी होकर उसने अब प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखी है।

WhatsApp7
मोबाइल में मैसेज चेक करता संदीप

संदीप नाम के इस युवक ने इस चिट्ठी के साथ अपने मोबाइल की कॉन्टैक्ट लिस्ट भी भेजी और उन सबके ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने की माँग की है। पूरे मामले पर फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए संदीप ने कहा, “मैं 31 तारीख़ को 5 बजे से ही अलार्म लगा के बैठ गया था भाईसाब और 12 बजते ही मैसेज करने पे लग गया था। और बदले में मुझे क्या मिला भाईसाब?”

“चलो 870 के 870 ना सही लेकिन कम से कम आधे तो मिलने चाहिए थे ना! अगर टोटल जोड़ के बोलूँ तो मेरे 10-12 घंटे तो यही चेक करने में निकल गये होंगे कि किस-किसने वापस रिप्लाई किया।” -संदीप ने अपना मोबाइल दिखाते हुए कहा।

तो हमारे रिपोर्टर ने पूछा, “लेकिन इसके लिए आपने मोदीजी को चिट्ठी क्यों लिखी?” “क्योंकि मोदीजी हम लोगों का दर्द समझते हैं! वो भी इस बात से दुखी रहते हैं कि कोई उनके गुड मॉर्निंग मैसेज का जवाब नहीं देता। एक आशिक़ का दर्द तो एक आशिक़ ही समझ सकता है।” -उसने एक ठंडी आह भरते हुए कहा।

उधर, चिट्ठी को मिलते ही सरकार भी हरकत में आ गयी है। क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि हम जल्द ही संसद में ‘इस हाथ दे, उस हाथ ले’ वाला क़ानून लाने वाले हैं। इस क़ानून के बनने के बाद ऐसे लोगों का सिम कार्ड ब्लॉक हो जायेगा, जो ‘लाइक’ के बदले लाइक और और ‘मैसेज’ के बदले में मैसेज नहीं करेंगे।”



ऐसी अन्य ख़बरें