Sunday, 18th November, 2018

चलते चलते

फ़ेसबुक पर सबको टैग करने वाले युवक का दिन-दहाड़े अपहरण, पूरे देश में दहशत का माहौल

25, Apr 2018 By Fake Bank Officer

कानपुर. उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले दिनों-दिन बुलंद होते जा रहे हैं। कल ही शहर के एक भीड़-भाड़ वाले इलाके में एक युवक का दिन-दहाड़े अपहरण कर लिया गया। राजू रस्तोगी नाम का यह शख्स जब कॉलेज से घर लौट रहा था, तभी मोड़ पर मारूति वैन में कुछ नकाबपोश आये और फ़ायरिंग करते हुए उसे उठाकर ले गये। इस घटना के बाद पूरे देश में दहशत का माहौल बना हुआ है।

Abduction- broad daylight
राजू रस्तोगी को अगवा करके ले जाते लोग

उसी इलाक़े में टहलने वाले हमारे संवाददाता ने जब इस विषय पर इंस्पेक्टर साधु यादव से बात की तो उन्होंने बताया कि जांच के नाम पर अभी तक उन्होंने सिर्फ़ अगवा हुए युवक के मोबाइल में जियो का बचा हुआ डेटा यूज़ किया है।

“युवक के मोबाइल की जांच से पता  चला कि उसे रोज़ फ़ेसबुक पर अपनी सेल्फी डालने की भयंकर लत थी। इतना ही नही, फ़ोटो डालकर वो अपने सारे दोस्तों को टैग कर देता था।” -इंस्पेक्टर ने युवक की आख़िरी सेल्फ़ी दिखाते हुए कहा।

“उसकी इस आदत से उसके दोस्त बहुत परेशान थे। उसके व्हॉट्सएप के मैसेजों से पता चलता है कि उसे कई दिनों से ‘देख लेने’ की धमकियाँ मिल रही थीं। शायद उन्हीं में से किसी ने….लेकिन अभी तक उसके किसी भी दोस्त ने इस घटना की ज़िम्मेदारी नहीं ली है।” -मायूस होते हुए इंस्पेक्टर बोलै।

इसके बाद हमारे संवाददाता ने अगवा हुए युवक के कुछ दोस्तों से भी बात की, जो जश्न मनाने ‘गुलाबो बार’ आये हुए थे। “देखो रिपोटर भैय्या! हमने तो उसको एक साल पहले ही ब्लॉक कर दिया था। ये काम ज़रूर उसके किसी नए दोस्त का है।” -एक लड़के ने व्हिस्की का पेग बनाते हुए कहा।

एक अन्य दोस्त ने दुखी स्वर ने कहा, “सर मैंने उसको कुछ कुछ महीने पहले समझाया था कि अपनी फ़ोटो पे सबको टैग मत कर, लोग गालियाँ देते हैं। पर वो नहीं माना! उसे हमेश से ही खतरों से खेलने का शौक था।”

उधर, इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर दहशत का माहौल है। डर के मारे लोगों ने फ़ेसबुक पर अपनी फोटो पर दूसरों को टैग करना बंद कर दिया है। कुछ लोगों ने तो पुराने फ़ोटो से भी टैग हटाने शुरु कर दिये हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें