चलते चलते

पीएम मोदी के अगले टास्क में लॉजिक घुसाने को लेकर भिड़े ज्योतिष और न्यूमरोलोजीस्टों के गुट, चार घायल

16, Apr 2020 By किल बिल पांडे

लापतानगर.  देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन को तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है, हालाँकि दूसरे चरण में मोदीजी का कोई नया टास्क अब तक नहीं आया है किंतु उनके टास्क को लेकर अभी से दो गुट आपस में भिड़ गए हैं।

journalists-whatsapp-hacking
किसका लॉजिक चलेगा?

सूचना मिली है कि मोदी जी के राष्ट्र के नाम संबोधन को लेकर, ज्योतिष और न्यूमरोलोजीस्टों के बीच हिंसक झड़प हो गयी है। घटना व्हाट्सएप्प यूनिवर्सिटी के कैंपस की बताई जा रही है। दरअसल, दोनों गुट ये दावा कर रहे हैं कि मोदी जी के संबोधन में ज्यादा ‘ज्योतिष’ घुसाना है या ज्यादा न्यूमरोलोजी।

मंगलवार को सुबह 10 बजे भाषण ख़त्म होते ही दोनों दल अति-उत्साहित हो गये। ज्योतिष गुट ने तुरंत ‘लाल किताब’ खोलकर मंगलवार के दस बजे के ग्रह, नक्षत्र देखने शुरू कर दिए, तो वहीं न्यूमरोलोजीस्टों का गुट, भाग्यांक, मूलांक निकालने में जुट गया।   

दोनों दलों के लॉजिक, सार्वजानिक मंच पर इसलिए पढ़े जाने तय किये गए, कि संबोधन के बाद फॅमिली व्हाट्सएप्प ग्रुपों में कौनसा लॉजिक जाएगा। लेकिन, ज्योतिष गुट ने यह सब पढ़े जाने से पहले ही यह ऐलान कर दिया कि, वो संबोधन में तो क्या, मोदी जी के गमछे के कलर में भी अपना तर्क घुसा सकते हैं।

इस पर न्यूमरोलोजी गुट ने भी पलटवार करते हुए कहा कि, “हमने भी चूड़ियाँ नहीं पहन रखी हैं, टोटके तो हमारे पास भी थोक के भाव पड़े हैं, पर हम लोग हवा में तीर नहीं चलाते। थोड़ी रिसर्च कर लेने दो, फिर देखना 14 तारीख में, 10 बजे, 2020 जोड़ कर ऐसा गुना-भाग करेंगे कि न्यूटन भी शरमा जाए!”

बस! इसी बात से तनातनी बढ़ गयी और दोनों गुट एक दूसरे  गुत्थम-गुत्था हो गए। किसी का ‘राहू’ भारी हुआ तो किसी का ‘केतू’ इससे पहले कि मामला और तूल पकड़ता, पुलिस ने बीच-बचाव करते हुए, इस घमासान में भिड़ रहे योद्धाओं को एक दूसरे से अलग किया।

पूरे घटनाक्रम में दोनों गुटों के चार से ज्यादा लोग घायल हुए हैं और भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किये गए हैं। इलाके के एसएचओ लवली सिंह के अनुसार, “फ़िलहाल मामला शांत करवा दिया गया है, पारिवारिक वहाट्सएप्प ग्रुप में किसका लॉजिक घुसेगा, इसका फैसला अब सिक्का उछलकर किया जाएगा!”



ऐसी अन्य ख़बरें