Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

"'जय शंकर की बोल बाद में खिड़की खोल', यह बोलकर ही खोली थी मैंने राफ़ेल की खिड़की!" - राजनाथ

10, Oct 2019 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस में राफ़ेल जेट के टायरों के नीचे सफलतापूर्वक नींबू रखने के बाद स्वदेश लौट आये हैं। लौटकर उन्होंने बताया कि नींबू रखने के अलावा उन्होंने वहाँ और भी बहुत कुछ किया।

rajnath-rafale-window2
खिड़की खोलने का तरीका बताते राजनाथ सिंह

एयरपोर्ट पर पत्तलकारों से बात करते हुए राजनाथ ने बताया कि “गाड़ी की सेफ़्टी के लिए नींबू-मिर्ची के अलावा हमें और भी बहुत कुछ करना पड़ता है। इसलिए नींबू रखने के बाद जब मैं राफ़ेल में बैठ रहा था तो पहले मैंने बोला- ‘जय शंकर की बोल बाद में खिड़की खोल’, उसके बाद ही खिड़की खोली!”

“अगर मैं ऐसा नहीं करता तो पक्का मेरे साथ हवा में कोई ना कोई काँड हो जाना था और फिर मैं भी पायलट से यही कहता कि 500 एक्स्ट्रा ले ले भाई पर लैंड करा दे!” – उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा।

“मैं तो राफ़ेल के पीछे ये सब भी लिखकर आया हूँ- ‘मिलेगा मुकद्दर’, ‘जगह मिलने पर साइड दी जाएगी’ और स्पेशली पाकिस्तान को चिढ़ाने के लिए लिखा है- मालिक का पैसा ड्राइवर का पसीना, चलती है गाड़ी बन के हसीना!”

इसके बाद उन्होंने चौंकाने वाली ख़बर देते हुए कहा कि राफ़ेल जेट भारत और फ्रांस दोनों ने मिलकर बनाया है, जिसमें नींबू वाला पार्ट हमारा है और बाक़ी फ्रांस का है!



ऐसी अन्य ख़बरें