Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

खेमका को मंगल ग्रह पर ट्रांसफ़र करेगी केंद्र सरकार, भारत में नहीं बची कोई जगह

29, Nov 2019 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. आईएएस अधिकारी अशोक खेमका का परसों 53वीं बार ट्रांसफ़र कर दिया गया। जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने भारत सरकार से कोई ऐसी जगह ढूँढने को कहा, जहाँ ईमानदार अफ़सर टिक कर रह सके। इसके जवाब में हमारी सरकार ने मंगल ग्रह का नाम सजेस्ट कर दिया।

Khemka-Mars
मंगल ग्रह को निहारते खेमकाजी

संयुक्त राष्ट्र को लिखे जवाब में केंद्र सरकार ने कहा है- “श्रीमान, भारत में ऐसी कोई भी जगह नहीं है, जहाँ कोई ईमानदार अफ़सर रह सके। इसलिए हम खेमका का ट्रांसफ़र मंगल ग्रह पर कर रहे हैं। मंगल पर अभी कोई करप्शन नहीं है, इसलिए वहाँ इससे किसी को कोई प्रॉब्लम नहीं होगी।”

संयुक्त राष्ट्र ने सरकार से यह भी पूछा कि 27 साल में 53 ट्रांसफ़र का लॉजिक क्या है? अगर प्रति वर्ष दो ट्रांसफ़र के हिसाब से भी जोड़ें तो 54 ट्रांसफ़र बैठते हैं। इसका मतलब उसका एक ट्रांसफ़र कम हुआ है। यह सुनते ही सरकार ने एक और ट्रांसफ़र कर दिया और कहा- “लीजिए, हो गया सीधा-सीधा हिसाब!” यूएन को जवाब देने के बाद विदेश सचिव गोखले ने आँख मारते हुए कहा, “वैसे, इस साल में अभी 32 दिन और बचे हैं और 32 दिन में तो हम 36 ट्रांसफ़र कर दें!”



ऐसी अन्य ख़बरें