Saturday, 26th May, 2018

चलते चलते

तृतीय विश्व-युद्ध में गैस चैंबर बनाने के लिए दिल्ली की हवा होगी नीलाम, रूस-अमेरिका हो सकते हैं बड़े खरीदार

02, May 2018 By akshat_pathak

वॉशिंगटन डीसी. सीरिया के मुद्दे पर अमेरिका और रूस के बीच तनातनी लगातार बढ़ती ही चली जा रही है। जैसे ही अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया पर मिसाइल हमला किया तो उसके अगले ही दिन रूस ने धमकी दे दी कि अगर सीरिया पर दोबारा हमला हुआ तो दुनिया में अफ़रा-तफ़री मच जाएगी और तीसरा वर्ल्ड वॉर भी छिड़ सकता है।

Delhi Pollution
यही ज़हरीली गैस होगी अमेरिका एक्सपोर्ट

लेकिन इस बीच, एक चौंकाने वाली ख़बर आई है! अगर इन महाशक्तियों के बीच तृतीय विश्व-युद्ध की नौबत आ गयी, तो सबसे ज़्यादा फ़ायदा दिल्ली की केजरीवाल सरकार को होगा। आप हैरान हो रहे होंगे कि दिल्ली के पास तो कोई परमाणु हथियार भी नहीं हैं बेचने के लिये, तो फिर फ़ायदा कैसे होगा?

असल में, दूसरे विश्व-युद्ध की तरह तीसरे विश्व-युद्ध में भी गैस चैम्बर बनाये जायेंगे, जिनके लिए ज़हरीली गैस की ज़रूरत पड़ेगी और दिल्ली में ज़हरीली गैस की कोई कमी तो है नहीं! तो कयास लगाये जा रहे हैं कि सारी ज़हरीली गैस दिल्ली से ही खरीदी जायेगी!

जब दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल जी से इस सौदे के बारे में पूछा गया तो पहले तो उन्होंने अपनी आदत के अनुसार यूँ ही माफ़ी मांग ली। माफ़ी माँगने के बाद उन्होंने सौदे की पुष्टि करते हुए कहा, “अगर हम अपनी हवा से दुनिया में चेंज ला सकते हैं तो इसमें  बुराई क्या है? वैसे भी मोदी जी इंडिया में तो हमें कुछ करने देते हैं नहीं!”

हालांकि, अभी गैस की नीलामी की तारीख तय होना बाक़ी है लेकिन चीन इस ख़बर को सुनते ही दिल्ली जैसी हवा बनाने की कोशिशों में जुट गया है। लेकिन भारतीय फैक्ट्रियाँ और गाड़ियाँ जिस क्वालिटी की गैस पैदा कर रहे हैं, वैसा प्रोडक्शन चीन के बस की बात नहीं है। इसलिए इतिहास में शायद ये पहली बार होगा, जब ‘मेड इन चाइना’ के बजाय कोई ‘मेड इन इंडिया’ प्रोडक्ट दुनिया में अपनी छाप छोड़ेगा!



ऐसी अन्य ख़बरें