Tuesday, 25th September, 2018

चलते चलते

राहुल गाँधी ने खाया था नॉनवेज खाना, 'स्टूल' टेस्ट करवाके एक रिपोर्टर ने किया ख़ुलासा

07, Sep 2018 By Guest Patrakar

एजेंसी. राहुल गाँधी इन दिनों ‘हिंदू’ बने हुए हैं, यही कारण है कि वो आजकल मानसरोवर यात्रा पर निकल पड़े हैं। वैसे भी राहुल गाँधी कॉन्ट्रोवर्सी से ज्यादा दिन दूर नहीं रह सकते, इस बार भी उनके नेपाल पहुँचते ही विवादों का दौर शुरू हो गया। हुआ यूँ कि जिस होटेल में कांग्रेस अध्यक्ष रुके हुए थे, वहाँ के एक वेटर ने दावा किया है कि राहुल ने डिनर में पोर्क-चॉप्स और चिकन कुरकुरे खाए थे। अब मानसरोवर यात्रा में जाते समय नॉन-वेज़ खाना अच्छा नहीं माना जाता, इसलिये लोग राहुल से नाराज़ हो गए।

rahul-eating
नाश्ता करते राहुल गाँधी

मामला हाथ से फिसलता हुआ देखकर काँग्रेस पार्टी ने सफाई दी कि राहुल जी ने वहाँ शुद्ध शाकाहारी भोजन किया था। सफाई आने के बाद मामला कुछ शांत हो गया। इस घटना के बाद इंडिया टीवी के एक खोजी पत्रकार ने राहुल के बाथरूम में घुस कर स्टूल टेस्ट करवा  लिया और यह साबित कर दिया कि राहुल ने वाक़ई में उस दिन नॉन-वेज़ खाना खाया था। यह खबर आते ही फिर कांग्रेस पार्टी बैकफुट पर आ गई।

हमने इंडिया टीवी के होनहार खोजी पत्रकार, अश्विनी यादव से बात की और इस बारे में और ज्यादा जानकारी हासिल की। अश्विनी ने बताया कि “मुझे शुरू से ही शक था कि राहुल गाँधी ने वहाँ पर माँसाहारी भोजन ही किया है, क्योंकि नेपाल का मौसम अक्सर सर्द रहता है, तो ऐसे में नॉन-वेज की तालाब उठ ही जाती है! इसी तरह की ख़बरें जब नेपाल से आने लगीं तो मेरा शक यक़ीन में बदल गया!”

“उधर, राहुल गाँधी की पार्टी ने बयान दिया कि ‘अध्यक्ष जी ने वहाँ शुद्ध शाकाहारी भोजन किया है! जबरदस्ती विवाद पैदा किया जा रहा है!’ तब मैंने मामले को अपने हाथों में लेने का फैसला कर लिया! मैं ख़ुद नेपाल निकल पड़ा, जिस होटल में वो ठहरे हैं वहाँ मैंने कड़ी निगरानी रखनी शुरू कर दी! कल सुबह रूम-सर्विस का बहाना बनाकर मैं उनके टॉयलेट में घुस गया और स्टूल का सैंपल उठाकर चुपके से बाहर आ गया!”

“जाहिर है, मैंने वो सैंपल लैब में जाँच के लिए भेज दिया, रिपोर्ट देखकर तो मुझे भी यकीन नहीं हुआ, उसमे लिखा था कि मानसरोवर यात्रा के दौरान उन्होंने नॉन-वेज़ खाना खाया था!” -कहते हुए अश्विनी रिपोर्ट हवा में लहराने लगे।

हालाँकि, काँग्रेस ने इस रिपोर्ट को भाजपा की चाल बताकर झूठी ख़बर बताया है। पूर्व काँग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मीडिया वालों से कहा “मोदी जी की लोकप्रियता ख़त्म हो रही है इसलिए वो अपनी दरबारी मीडिया के माध्यम से ऐसी ख़बरें चलवा रहे हैं! आदरणीय राहुल जी ने वहाँ पेठे की सब्ज़ी और एक दर्ज़न ‘पूरी’ खायी थी! इसका गवाह मैं ख़ुद हूँ, मैंने ही उनकी और मेरी, जूठी प्लेट उठाकर किचन में रखी थी! मैं उस पत्रकार से पूछना चाहता हूँ कि इस बात का क्या सबूत है कि वो ‘स्टूल’ सैंपल राहुल जी का ही है?”

“मेरी मांग है कि स्टूल कांड की CBI जाँच करायी जाए और दोषी पाए जाने पर उस पत्रकार को नौकरी से निकाला जाए! हमारे अध्यक्ष जी एक सच्चे शिव-भक्त हैं और आने वाले दिनो में वो शास्त्रार्थ करने की भी क्षमता रखते हैं!”



ऐसी अन्य ख़बरें