Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

भाजपा को हराने के लिए राहुल गाँधी ने भाजपा की सदस्यता ली

13, Aug 2019 By गोबर जी

ब्यूरो. सोनिया गाँधी के फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही दिल्ली में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गयीं। लोग सोचने लगे कि अब राहुल को क्या कार्यभार मिलेगा? लेकिन राहुल बाबा ने भाजपा की सदस्यता लेकर सबको चौंका दिया है। जहाँ कांग्रेस में ख़ुशी का माहौल है वहीँ देशभर के भाजपा कार्यालयों में सन्नाटा पसरा हुआ है। ऐसा लग रहा है जैसे भक्तों के सीने पर सांप लोट गया हो।

Rahul-Gandhi-Hug
भाजपा में आने के बाद राहुल

अपना नाम न छापने की शर्त पर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि. “ये निर्णय बहुत सोच-समझकर लिया गया है। ये त्रिकाल सत्य है कि जिस पार्टी में राहुल रहेंगे उस पार्टी का हर चुनाव हारना पक्का है। इसलिए अगर राहुल भाजपा की सदस्यता ले लें तो उनका हारना भी तय है और चूंकि विपक्ष में ‘कांग्रेस’ सबसे बड़ी पार्टी है तो भाजपा की हार का सीधा-सीधा फायदा हमें ही मिलेगा!”

जब अमित शाह से पूछा गया कि. “भारतीय जनता पार्टी ने ऐसी गलती क्यों की?” तो उन्होंने चाणक्य की तरह कुटिल मुस्कान बिखेरते हुए कहा कि, “हमारी रणनीति आप जैसों को समझ नहीं आएगी, इस बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय के पीछे दो कारण हैं, पहला, वाजपेयी जी के बाद भाजपा में ब्राह्मण नेताओं का सूखा आ गया था! राहुल जी, जो कि एक जनेऊधारी दत्तात्रेय ब्राह्मण हैं, भाजपा के इस अधूरेपन को पूरा करेंगे! इस तरह, हमें ब्राह्मणों का खोया हुआ वोट फिर से मिलेगा!”

दूसरा, जो कि इससे भी बड़ा कारण है, वो ये है कि हम चाहते हैं कि देश में भाजपा का शासन लंबे वक़्त तक रहे और उसके लिए हमें 3 से 8 वर्ष के बच्चों पर निशाना साधना पड़ेगा! जो कल पार्टी की मशाल लेकर आगे चलेंगे। आप जानते हैं कि राहुल कार्टून्स बहुत देखते हैं तो वो इन बच्चों से अच्छी तरह से संपर्क स्थापित कर पाएंगे! राहुल इस देश का भविष्य हैं!” कहते हुए वो सन् 2050 के भारत के सपनों में खो गये।



ऐसी अन्य ख़बरें